12वीं के बाद कलेक्टर कैसे बने

12वीं के बाद कलेक्टर कैसे बने | 12th ke bad collector kaise bane

12वीं के बाद कलेक्टर कैसे बने (12th ke bad collector kaise bane) बहुत सारे लोगों द्वारा यह पूछा गया है तो चलिए आज के इस लेख के माध्यम से हम इसके बारे में जानते हैं।

कलेक्टर से संबंधित और भी कई सारे सवाल छात्रों द्वारा पूछा गया है जिसका जवाब भी आज हम इस लेख के माध्यम से देने वाले हैं।

कलेक्टर की बात करें तो कलेक्टर एक आईएएस ऑफिसर होता है जिसे कुछ समय के लिए कलेक्टर बनाया जाता है और फिर वह अपने मूल रूप आईएएस ऑफिसर के रूप में आ जाते हैं।

कलेक्टर की ड्यूटी की बात की जाए तो उसकी ड्यूटी 6 महीने से लेकर 2 साल तक होती है कुछ कुछ जगहों पर 6 महीने से साल भर में कलेक्टर को बदल दिया जाता है तो कुछ जगहों पर 2 साल तक रखा जाता है।

12वीं के बाद कलेक्टर कैसे बने | कलेक्टर का इंटरव्यू कैसे होता है?
12वीं के बाद कलेक्टर कैसे बने | कलेक्टर का इंटरव्यू कैसे होता है?

एक कलेक्टर की सैलरी की बात की जाए तो इसकी सैलरी अच्छी खासी रहती है और जब वह कलेक्टर के पद पर होता है तो पूरे राज्य का भार उसी पर होता है।

कलेक्टर को डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट कहा जाता है जिसे हिंदी में जिला अध्यक्ष कहते हैं जिला अध्यक्ष बनने की इच्छा बहुत सारे विद्यार्थी की होती है।

लेकिन बहुत सारे विद्यार्थियों को यह पता नहीं होता है कि जिला अधिकारी बनने के लिए किन किन प्रक्रियाओं से गुजरना पड़ता है या वह एक जिला अधिकारी कैसे बन सकता है।

तो आज के इस लेख के माध्यम से हम यह बताने वाले हैं कि 12वीं के बाद कलेक्टर कैसे बने (12th ke bad collector kaise bane) जो कि बहुत सारे विद्यार्थियों द्वारा पूछा गया था।

आप इस लेख को पूरा अंत तक पढ़े ताकि आपको कलेक्टर से संबंधित सभी प्रकार के सवालों का जवाब मिल जाए और कहीं भी आप को समझने में किसी भी प्रकार का दिक्कत ना हो।

12वीं के बाद कलेक्टर कैसे बने | 12th ke bad collector kaise bane

12वीं के बाद कलेक्टर बनने के लिए उम्मीदवार को बहुत सारे प्रक्रियाओं से गुजरना पड़ता है उसके बाद वह कलेक्टर बन सकते हैं।

चलिए जानते हैं कि 12वीं के बाद कलेक्टर कैसे बने उसकी प्रक्रिया क्या-क्या है जोकि निम्नलिखित है।

  • सबसे पहले बारहवीं कक्षा को आप पास करें।
  • उसके बाद ग्रेजुएशन में एडमिशन ले तथा ग्रेजुएशन को पास करें।
  • ग्रेजुएशन पास करने के बाद यूपीएससी की तैयारी करें और यूपीएससी का फॉर्म भरें।
  • कलेक्टर बनने के लिए विद्यार्थी को सबसे पहले आईएएस की परीक्षा देनी होती है जो कि यूपीएससी के द्वारा ली जाती है।
  • ग्रेजुएशन करने के बाद आप यूपीएससी परीक्षा में बैठने योग्य होते हैं।
  • यूपीएससी की परीक्षा में शामिल होने के बाद आपको उस परीक्षा में टॉप हंड्रेड स्टूडेंट्स के रैंक में अपना नाम लाना होता है।
  • यूपीएससी परीक्षा के टॉप रैंक हासिल करने के बाद विद्यार्थी एक आईएएस ऑफिसर बन सकता है।
  • उसके बाद एक या दो प्रमोशन होने के बाद आप एक कलेक्टर बन जाते हैं और किसी भी राज्य का कार्यभार संभालने के योग्य हो जाते हैं।

यदि हम साधारण तौर पर बात करें तो 12वीं के बाद कलेक्टर बनने के लिए सबसे पहले आपको ग्रेजुएशन पास करना होता है।

ग्रेजुएशन पास करने के बाद आपको यूपीएससी का तैयारी करना होता है, क्योंकि कलेक्टर बनने के लिए आपको एक आईएएस ऑफिसर बनना पड़ता है और आईएएस ऑफिसर बनने के लिए यूपीएससी का एग्जाम पास करना होता है।

ग्रैजुएशन के बाद आप यूपीएससी का फॉर्म भरा तथा उसके द्वारा लिए जाने वाले सभी एग्जाम्स को क्लियर करें एग्जाम पास करने के बाद इंटरव्यू होता है।

इंटरव्यू को क्लियर करने के बाद आप एक आईएएस ऑफिसर बन जाते हैं तथा आईएएस ऑफिसर बनने के बाद जब आपका एक से दो अथवा तीन प्रमोशन होता है तो आप एक कलेक्टर बन जाते हैं।

आपको बता दें कि कलेक्टर बनने के लिए बहुत ज्यादा मेहनत करना पड़ता है यूपीएससी का एग्जाम भारत का सबसे कठिन एग्जाम में से एक माना जाता है।

यूपीएससी का तैयारी बहुत जोरों शोरों से करना होता है उसके बाद ही आप यूपीएससी को क्लियर कर पाते हैं अन्यथा यूपीएससी बहुत हार्ड होता है।

यदि आप यूपीएससी क्लियर करना चाहते हैं तो आप 12वीं से ही यूपीएससी का तैयारी आरंभ कर दें क्योंकि यूपीएससी का तैयारी करने में लगभग 6 साल का समय लगता है।

यदि आप 12वीं के बाद ही यूपीएससी का तैयारी करना शुरू करते हैं तो पूरा ग्रेजुएशन 3 वर्ष का होता है तथा आगे 3 वर्ष यूपीएससी का तैयारी आपके पास बहुत ज्यादा समय रहता है और आप आसानी से यूपीएससी का तैयारी कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें :-IAS की तैयारी में कितना खर्च आता है?

12वीं के बाद कलेक्टर बनने में कितने साल लगते हैं?

12वीं के बाद कलेक्टर बनने के लिए लगभग 6 साल से 8 साल का समय लग सकता है।

जैसा कि आपको पता होगा कि एक कलेक्टर बनने के लिए यूपीएससी का एग्जाम क्लियर करना होता है और यूपीएससी का एग्जाम देने के लिए आपको उसकी तैयारी करनी होती है।

आपको पता था कि यूपीएससी का तैयारी करने में कम से कम 2 से 3 साल का समय लगता है और ग्रेजुएशन में लगभग 3 साल का समय लगता है।

टोटल समय को जोड़ा जाए तो ग्रेजुएशन का 3 साल और यूपीएससी के तैयारी में 3 साल लगभग 6 साल का समय आपका लगता है।

लेकिन बहुत कम चांस होता है कि आप 6 साल में एक कलेक्टर बन जाएंगे जाहिर सी बात है कि 6 साल आपका तैयारी करने में ही समय चला जाता है।

उसके बाद आपको यूपीएससी के लिए फॉर्म भरना है उसके एग्जाम के लिए जाना है उसका एग्जाम का प्रोसेस होता है जिसमें एक 2 साल का समय लग जाता है।

टोटल मानकर चला तो 6 से 8 साल में आप एक कलेक्टर बनने के योग्य हो जाते हैं और आप एक कलेक्टर बन सकते हैं यदि एक ही बार में पास हो गए तो।

यह भी पढ़ें :-आईएएस की सैलरी कितनी होती है

कलेक्टर बनने के लिए कितनी उम्र होनी चाहिए?

कलेक्टर बनने के लिए उम्र की बात की जाए तो सभी श्रेणियों के लिए उम्र अलग-अलग रखी गई है जो कि निम्नलिखित है।

  • सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों के लिए न्यूनतम आयु सीमा 21 वर्ष तथा अधिकतम आयु सीमा 32 वर्ष रखा गया है
  • अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए न्यूनतम सीमा 21 वर्ष तथा अधिकतम सीमा 35 वर्ष रखा गया है इसे 3 वर्ष की छूट दी जाती है।
  • एससी एसटी वर्ग के लिए न्यूनतम सीमा 21 वर्ष तथा अधिकतम सीमा 37 वर्ष रखा गया है इसे 5 वर्ष की छूट दी जाती है।

चलिए अब हम हैंडीकैप्ड लोगों के लिए आयु सीमा जानते हैं जो कि विकलांग होते हैं उसके लिए आयु सीमा निम्नलिखित हैं।

  • वह उम्मीदवार जो विकलांग है तथा जनरल कैटेगरी में आते हैं उनके न्यूनतम सीमा 21 वर्ष है तथा अधिकतम आयु सीमा 42 वर्ष है।
  • वह उम्मीदवार जो अन्य पिछड़ा वर्ग में आते हैं तथा विकलांग हैं उनके लिए न्यूनतम आयु सीमा 21 वर्ष तथा अधिकतम आयु सीमा 45 वर्ष है।
  • वह उम्मीदवार से विकलांग है तथा एससी एसटी कैटेगरी में आते हैं तो उनके लिए न्यूनतम आयु सीमा 21 वर्ष तथा अधिकतम आयु सीमा 47 वर्ष हैं।

यह भी पढ़ें :-UPSC की तैयारी में कितना खर्च आता है

कलेक्टर की ड्यूटी कितने साल की होती है?

कलेक्टर की ड्यूटी की बात की जाए तो एक कलेक्टर की ड्यूटी 6 महीने से 2 साल तक का हो सकता है।

कभी-कभी कलेक्टर की ड्यूटी को छह महीना रखा जाता है जबकि कभी-कभी इसकी ड्यूटी 2 साल तक भी होती है।

कलेक्टर की ड्यूटी अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग तरह से समय निर्धारित किया हुआ है कुछ कुछ राज्यों में 6 महीने से साल भर तक होता है तो कुछ राज्यों में 2 साल तक होता है।

आजकल बात करें तो कलेक्टर की ड्यूटी 6 महीने तक ही कर दी गई है अर्थात इसकी ड्यूटी कोई निर्धारित नहीं होती है लेकिन फिर भी 6 महीने में कलेक्टर की ड्यूटी खत्म कर दी जाती है और उस जगह पर दूसरे को कलेक्टर बना दिया जाता है।

बहुत सारे जगहों पर लगभग 1 साल तक एक कलेक्टर को रखा जाता है उसके बाद चेंज कर दिया जाता है।

आजकल जो भी कोई कलेक्टर बन जाते हैं वह यदि 6 महीने से या साल भर से ज्यादा कलेक्टर के पद पर रहते हैं तो वह बहुत ही भाग्यशाली होते हैं।

क्योंकि बहुत कम ऐसे देखने को मिलता है कि कलेक्टर की ड्यूटी पर साल भर से ज्यादा कोई टीका हुआ रहे।

यह भी पढ़ें :-आईपीएस बनने के लिए कौन सी बुक पढ़े

कलेक्टर बनने के लिए कौन से सब्जेक्ट जरूरी है?

कलेक्टर बनने के लिए सब्जेक्ट की बात की जाए तो इसके लिए सबसे पहले आपको यूपीएससी की तैयारी करनी होती है और यूपीएससी की तैयारी में आप निम्नलिखित सब्जेक्ट को पढ़ सकते हैं।

  • मैथमेटिक्स 
  • जनरल स्टडीज और एप्टिट्यूड 
  • इंग्लिश 
  • सामाजिक विज्ञान 
  • जनरल नॉलेज 
  • साइंस एंड टेक्नोलॉजी 
  • रिजनिंग 
  • मैगजीन 
  • करंट अफेयर्स।

यदि आप यूपीएससी की तैयारी करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको एक बात बता दें कि कक्षा 9 से लेकर इंटर तक की सभी एनसीईआरटी बुक को आपको पढ़ना पड़ता है।

क्योंकि यूपीएससी एग्जाम्स में इन्हीं सब से सवाल पूछे जाते हैं और यदि आप इन सभी बुक्स को पढ़ लेते हैं तो आप यू पी एस सी के एग्जाम को आसानी से क्लियर कर सकते हैं।

यूपीएससी का एग्जाम तीन चरणों में लिया जाता है जोकि निम्नलिखित है।

  • प्रारंभिक परीक्षा:- इसमें तो पेपर होते हैं पहला पेपर जनरल एबिलिटी टेस्ट का तथा दूसरा पेपर सिविल सर्विसेज एप्टीट्यूड टेस्ट का दोनों ही पेपर ऑब्जेक्टिव होते हैं तथा 400 अंक के पेपर होते हैं जिसे आपको पास करना होता है।
  • मेंस परीक्षा:- इसमें कुल 9 पेपर होते हैं जिसे दो भागों में विभाजित किया गया होता है पहला क्वालीफाइंग पेपर और दूसरा मेरिट पेपर।

क्वालीफाइंग पेपर दो प्रकार के होते हैं और दोनों पेपर में 300.300 अंक होते हैं।

मेरिट पेपर में 7 पेपर होते हैं और सभी में ढाई सौ ढाई सौ अंक होते हैं।

  • इंटरव्यू:- वह दोनों परीक्षा को पास करने के बाद तीसरा चरण इंटरव्यू का होता है उन दोनों परीक्षाओं को पास करने के बाद उम्मीदवारों को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है और इंटरव्यू पास करने के बाद आपको ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है और आप एक आईएएस ऑफिसर बन जाते हैं

यह भी पढ़ें :-12वीं के बाद आईपीएस कैसे बनें 

कलेक्टर का इंटरव्यू कैसे होता है?

कलेक्टर के इंटरव्यू में लगभग साधारण सवाल पूछे जाते हैं जैसे आपका बायोडाटा आपका नाम का अर्थ आपके शौक के बारे में इत्यादि चीजों के बारे में पूछे जाते हैं।

इंटरव्यू के दौरान आपके पाने हुए कपड़ों के बारे में अभी पूछे जा सकते हैं और आपके पढ़ाई से जुड़े सवाल भी पूछे जा सकते हैं।

करंट अफेयर्स के बारे में अभी इंटरव्यू के दौरान पूछे जाते हैं था आपके शहर के बारे में भी या आपके राज्य के बारे में अभी इंटरव्यू में पूछे जा सकते हैं।

आपके शहर राज्य से संबंधित किसी भी प्रकार के सवाल इंटरव्यू में पूछ सकते हैं जैसे कि आपके शहर की कुल जनसंख्या कितनी है या आपके राज्य की कुल जनसंख्या कितनी है आपके राज्य में कितने जाति के लोग रहते हैं इत्यादि।

आपको हमेशा यह ध्यान रखना है कि इंटरव्यू के दौरान बहस नहीं करना है तथा इंटरव्यू के दौरान आत्मविश्वास का होना बेहद जरूरी है इसलिए हमेशा आप जो भी सवाल का जवाब दे आत्मविश्वास के साथ जवाब दें।

जनरल नॉलेज से संबंधित कई प्रकार के सवाल आपसे इंटरव्यू में पूछे जा सकते हैं इसलिए आपको हमेशा अपने तैयारी के साथ रहना है।

किसी भी सवाल का जवाब आपको घबराकर नहीं देना है अब समय ले सकते हैं तथा आराम से समय के साथ तथा आत्मविश्वास के साथ उन सवालों का जवाब आप दे सकते हैं।

मैं आशा करता हूं कि आप यूपीएससी का एग्जाम क्लियर कर लेता था इंटरव्यू भी क्लियर करें ताकि आप एक आईएएस ऑफिसर बन सकते हैं और अपने राज्य तथा देश की सेवा कर सके।

यह भी पढ़ें :-12वीं के बाद डीएसपी कैसे बने

CONCLUSION :- 12वीं के बाद कलेक्टर कैसे बने

आज के इस लेख के माध्यम से हमने जाना कि 12वीं के बाद कलेक्टर कैसे बने (12th ke bad collector kaise bane) और साथ ही लोगों द्वारा पूछे गए कुछ सवालों के जवाब भी जाना।

हमको उम्मीद है कि आज का यह लेख “12वीं के बाद कलेक्टर कैसे बने (12th ke bad collector kaise bane)” आपको काफी अच्छा लगा होगा।

collector से संबंधित सभी प्रकार के सवालों का जवाब आज हम इस लेख के माध्यम से समझ गए हैं तथा लोगों द्वारा पूछे गए सभी सवालों का जवाब भी आज हम जाने।

इसके अलावा भी आपके मन में किसी प्रकार का सवाल है तो आप कमेंट कर सकते हैं आपके सवालों का जवाब जल्द से जल्द दिया जायेगा।

यह भी पढ़ें :-

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *