भारत में कितने आईएएस है

भारत में कितने आईएएस है | Bharat Mein Kitne IAS Hain

भारत में कितने आईएएस है | Bharat Mein Kitne IAS Hain आज के इस लेख के माध्यम से हम जानने वाले हैं और साथ में यह भी जानने वाले हैं कि आईएएस का क्या-क्या काम होता है और इनकी सैलरी कितनी होती है।

IAS का फुल फॉर्म Indian Administrative Service होता है जिसको हिंदी मे भारतीय प्रशासनिक सेवा कहते हैं। यह भारत सरकार की अखिल भारतीय सेवाओं की प्रशासनिक शाखा होती है।

एक आईएएस अफसर को राजस्व से संबंधित सभी प्रकार के कार्य करने होते हैं जैसे राजस्व का संग्रह इत्यादि। एक आईएएस जब डीएम के रोल में होता है तो उसके पास जिले के सभी विभाग की जिम्मेदारी होती है वह एक डीएम के रूप में पुलिस विभाग के साथ-साथ अन्य विभागों का भी मुखिया होता है।

एक कार्यकारी मजिस्ट्रेट के रूप में कार्य करना, मुख्य विकास अधिकारी (सीडीओ) या जिला विकास उपायुक्त के रूप में कार्य करना, जिले में कानून और व्यवस्था को बनाए रखना, जिले में राज्य सरकार और केंद्र सरकार की नीतियों को प्रभावी ढंग से लागू करवाना इत्यादि सभी प्रकार के कार्य को एक आईएएस ऑफिसर करते हैं।

एक आईएएस सिविल सर्विस का सर्वोच्च पद होता है। ट्रेनिंग के बाद आईएएस को उनके कैडर में भेजा जाता है, और वहां उन्हें किसी विशेष क्षेत्र या विभाग का चार्ज सौंपा जाता है।

एक आईएएस अधिकारी को भारतीय प्रशासन में सबसे उच्च कोटि का अधिकारी माना जाता है, क्योंकि इनके पास कई प्रकार के जिम्मेदारियां तथा चुनौतियां होती है। एक आईएएस के कंधे पर कानून और व्यवस्था का रखरखाव का जिम्मेदारी होता है तथा संकट में लोगों का सहायता करना इसका कार्य होता है।

भारत में कितने आईएएस है | Bharat Mein Kitne IAS Hain | IAS की सैलरी कितनी होती है? | भारत का पहला आईएएस कौन है? | IAS बनने के लिए योग्यता
भारत में कितने आईएएस है | Bharat Mein Kitne IAS Hain

IAS अधिकारियों को विभिन्न भारतीय प्रतिष्ठानों जैसे कि संवैधानिक निकायों, सहायक निकायों, सार्वजनिक क्षेत्र की यूनिटें, कर्मचारियों और लाइन एजेंसियों, वैधानिक निकायों और स्वायत्त निकायों में भी तैनात किया जाता है। 

अक्सर लोगों का सवाल रहता है की भारत में कितने आईएएस ऑफिसर हैं और भी कई तरह के सवाल लोग पूछे हुए हैं तो आज इन सभी सवालों का जवाब इस लेख के माध्यम से देने वाले हैं।

आज के इस लेख को पूरा अंत तक पढ़े ताकि आपको आपके सभी सवालों का जवाब मिल जाए और बारीकी से आप सब कुछ समझ सके तथा किसी भी प्रकार का संकोच आपके मन में ना रहे।

भारत में कितने आईएएस है | Bharat Mein Kitne IAS Hain

एक आईएएस ऑफिसर के बदौलत ही एक शहर सही ढंग से चल सकता है क्योंकि देश के सबसे मजबूत ढांचा के रूप में आईएएस ऑफिसर को ही माना जाता है।

भारत में आईएएस पदों की बात की जाए तो यह पद 6500 है जिसको स्वीकृत किया गया है, लेकिन अभी भारत में 6500 आईएएस ऑफिसर नहीं है, क्योंकि सभी आईएएस पदों का नियुक्ति नहीं किया गया है।

भारत में नियुक्ति आईएएस पद 5004 है जो कि वर्तमान समय में है, हो सकता है आगे इसकी नियुक्ति और भी हो जाए तथा वर्तमान में अभी रिक्त आईएएस पद 1496 है।

पूरे भारत में 5004 आईएएस ऑफिसर वर्तमान समय में अभी मौजूद है। चलिए अब हम जानते हैं कि किस राज्य में कितने आईएएस ऑफिसर हैं और कौन सा राज्य है जिसमें सबसे ज्यादा आईएएस ऑफिसर हैं, जोकि निम्नलिखित है।

किस राज्य में कितने IAS ऑफिसर वर्तमान समय में है

राज्यकुल स्वीकृत पदकुल नियुक्त पदकुल रिक्त पद
सिक्किम48 37 11
नगालैंड946727
त्रिपुरा967620
उत्तराखंड1208733
मणिपुर1159124
जम्मू और कश्मीर1379146
हिमाचल प्रदेश14711532
तेलंगाना20813078
झारखंड21514471
केरल23115081
छत्तीसगढ़19315439
हरियाणा20515550
आंध्र प्रदेश21117041
ओडिशा13717859
पंजाब22118239
कर्नाटक31421599
असम-मेघालय26322142
गुजरात29724156
राजस्थान31324370
बिहार34224399
पश्चिम बंगाल35927782
एजीएमयूटी कैडर33727958
तमिलनाडु37628987
महाराष्ट्र36131348
मध्य प्रदेश43934198
उत्तर प्रदेश621515106
कुल650050041496

चार्ट के अनुसार से सबसे ज्यादा आईएएस ऑफिसर उत्तर प्रदेश में है जिसकी स्वीकृति 621 है तथा नियुक्ति 515 और जिस में अभी भी 106 पद रिक्त है।

नोट:- हो सकता है वर्तमान समय में इसमें कुछ बदलाव किए गए हो यदि आपको इसमें कहीं गलती लग रहा हो तो आप ऑफिशियल वेबसाइट चेक कर सकते हैं मैं जल्द से जल्द इसे अपडेट करने का कोशिश करूंगा।

यह भी पढ़ें :-पुलिस की सैलरी कितनी होती है?

भारत का पहला आईएएस कौन है?

भारत का पहला आईएएस सत्येंद्रनाथ टैगोर (Satyendranath Tagore) है। जिन्होंने वर्ष 1863 में सिविस सेवा परीक्षा में सफलता हासिल की और आईएएस अफसर बने।  

सत्येंद्रनाथ टैगोर के बारे में आपको बात दें कि वह  रवींद्रनाथ टैगोर (Rabindranath Tagore) के बड़े भाई थे और आधिकारिक तौर पर भारत के सबसे पहले आईएएस अफसर थे। 

सत्येंद्रनाथ टैगोर नें अपने मेहनत और लगन के साथ पढ़ाई की और सिविल सेवा परीक्षा को पास किया और वह एक आईएएस ऑफिसर के रूप में उभर कर आए और अपने मेहनत से सेवा किया।

यह भी पढ़ें :-12वीं के बाद आईपीएस कैसे बनें 

IAS की सैलरी कितनी होती है?

आईएएस की सैलरी की बात किया जाए तो एक आईएएस को सैलरी के रूप में बेसिक प्रतिमा सैलेरी ₹56,100 से शुरू होती है।

आपको यह भी बता दें कि एक आईएएस का सैलरी ₹2,50,000 तक हो सकती है, तथा इसके अलावा भी उन्हें कई प्रकार के सुख सुविधाएं दी जाती है तथा कई प्रकार के फैसिलिटी भी दी जाती है।

सैलरी के अलावा उन्हें रहने के लिए एक अच्छा आवास, आधिकारिक व्हीकल, घरेलू कर्मचारी, सब्सिडी के साथ बिजली, पानी इत्यादि जैसी सुविधाएं दी जाती हैं। 

आपको यह भी जानकारी होनी चाहिए कि एक आईएएस ऑफिसर को सैलरी के अलावा TR, DA और HRA अलग से दिए जाते हैं और भी काफी सुविधाएं एक आईएएस ऑफिसर को मिलती है।

यह भी पढ़ें :-12वीं के बाद डीएसपी कैसे बने

IAS Officer कैसे बनें?

बहुत सारे छात्रों के मन में यह भी सवाल रहता है कि एक आईएएस ऑफिसर कैसे बने तो उन छात्रों के लिए यह स्पेशल बनाया गया है। आप इस पॉइंट को पढ़ सकते हैं यदि आप एक आईएएस ऑफिसर बनना चाहते हैं।

सबसे पहले आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए आपकी पढ़ाई ग्रेजुएट होने चाहिए अर्थात आप स्नातक पर छात्र होना चाहिए उसके बाद ही आप आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

उसके बाद आपको UPSC (Union Public Service Commission) द्वारा आयोजित होने वाली सिविल सेवा परीक्षा के लिए अप्लाई करना होगा।

UPSC द्वारा आयोजित होने वाली सिविल सेवा परीक्षा में लेने वाली सभी प्रकार के एग्जाम्स को पास करना होगा और अंत में साक्षात्कार को भी क्लियर करना होगा।

यह भारत की सबसे मुश्किल परीक्षा मानी जाती है, हालांकि इसे पास करना नामुमकिन नहीं है। सिविल सेवा परीक्षा के तीन चरण होते हैं और एक आईएएस अधिकारी बनने के लिए इन तीनों चरणों को पास करना जरूरी होता है। 

  1. प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam)
  2. मुख्य परीक्षा (Main Exam)
  3. साक्षात्कार (Interview)

यह भी पढ़ें :-BSF कैसे ज्वाइन करें

प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam)

प्रारंभिक परीक्षा में मल्टीचॉइस टाइप क्वेश्चन पूछा जाता है जिसमें 2 पेपर होते हैं और साथ ही इसमें 2 घंटे का परीक्षा होती है तथा कुल 400 मार्क्स होते हैं जिसमें से 0.33 की नेगेटिव मार्किंग भी होती है।

दोनों पेपर में अलग-अलग विषय से सवाल पूछे जाते हैं। इन दोनों पेपरों में किस किस विषय से सवाल पूछे जाते हैं। चलिए जानते हैं जो कि निम्नलिखित है।

  • पहला पेपर – करंट अफेयर्स, भारतीय इतिहास और राजनीति
  • दूसरा पेपर – सिविल सर्विस एप्टीट्यूड टेस्ट (CSAT)

प्रारंभिक परीक्षा को पास करने के बाद दूसरे चरण की परीक्षा शुरू होती है जिसको मुख्य परीक्षा कहा जाता है चलिए जानते हैं मुख्य परीक्षा में किस तरह के सवाल पूछे जाते हैं।

यह भी पढ़ें :-कर्नल की सैलरी कितनी होती है

मुख्य परीक्षा (Main Exam)

मुख्य परीक्षा में theory based नौ (9) पेपर होते हैं, जो कुल 1750 अंकों के होते हैं। चलिए जानते हैं मुख्य परीक्षा का सिलेबस किस प्रकार होता है और कौन कौन विषय से प्रश्न पूछे जाते हैं जो कि निम्नलिखित है।

  • भारतीय विरासत
  • संस्कृति
  • संविधान
  • पर्यावरण 
  • भूगोल 
  • अंग्रेजी भाषा
  • किसी भी विषय पर निबंध
  • सामाजिक न्याय प्रौद्योगिकी
  • भारतीय भाषा (भाषा में से कोई भी) 
  • सत्यनिष्ठा और योग्यता
  • शासन
  • आपदा प्रबंधन नैतिकता

जब आप प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा को पास कर लेते हैं तो आपके पास एक और चरण होती है जिसको पास करना बहुत जरूरी माना जाता है और यह बहुत कठिन भी होता है।

वह चरण है साक्षात्कार यह बहुत ही कठिन होता है लेकिन यदि आप ध्यान से इंटरव्यू देंगे तो यह आपके लिए सरल हो जाएगा और इसको पास करने के बाद आप एक आईएएस ऑफिसर बन सकते हैं, तो चलिए जानते हैं इंटरव्यू में किस प्रकार के सवाल पूछे जाते हैं।

जरुर पढ़ें :-साइंस में कौन-कौन सी जॉब होती है? 

साक्षात्कार (Interview)

साक्षात्कार  objective और subjective एग्जाम के बाद अंतिम राउंड होता है, जहां उम्मीदवार का personality test लिया जाता है। यहां से उम्मीदवार का चयन होने के बाद उसे ट्रेनिंग दी जाती है और उसके अनुसार तैनाती की जाती है। 

साक्षात्कार क्लियर करने के बाद आप एक आईएएस ऑफिसर बन जाते हैं लेकिन इसके बाद भी आपको एक और चरण से गुजरना पड़ता है जो की ट्रेनिंग होती है।

आपकी ट्रेनिंग पूरी होने के बाद आपको किसी शहर में पोस्टिंग किया जाता है और वहां से आप अपना पोस्ट संभाल सकते हैं।

जरुर पढ़ें :-बीएसएफ की सैलेरी कितनी है?

IAS बनने के लिए योग्यता

बहुत सारे छात्रों के मन में यह भी सवाल है कि आईएएस बनने के लिए क्या-क्या योग्यता होनी चाहिए और किन किन योग्यताओं का होना अनिवार्य माना जाता है।

तो चलिए जानते हैं कि एक आईएएस बनने के लिए आपको किन किन योग्यताओं का होना बहुत जरूरी और अनिवार्य माना जाता है जोकि निम्नलिखित है।

  • IAS के लिए शैक्षिक योग्यता
  • IAS के लिए आयु सीमा
  • IAS के लिए शारीरिक योग्यता
  • प्रयासों की संख्या

यह भी पढ़ें :-इंडियन आर्मी की सैलरी कितनी होती है

IAS के लिए शैक्षिक योग्यता

आईएएस के लिए शैक्षिक योग्यता की बात किया जाए तो एक आईएएस ऑफिसर बनने के लिए आपको यूपीएससी परीक्षा देना बहुत ही जरूरी होता है।

बिना यूपीएससी परीक्षा को पास किए आप एक आईएएस ऑफिसर नहीं बन सकते हैं क्योंकि आईएएस बनने के लिए सिविल सेवा परीक्षा पास करना अनिवार्य होता है।

यूपीएससी द्वारा आयोजित होने वाली सिविल सेवा परीक्षा मैं अप्लाई करने के लिए आपके पास स्नातक की डिग्री होनी चाहिए और वह स्नातक की डिग्री किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ही होनी चाहिए अन्यथा आप यूपीएससी में आवेदन नहीं कर सकते हैं।

यदि कोई उम्मीदवार ने correspondence education ली है तो वह भी इस परीक्षा के पात्र है। अर्थात वह उम्मीदवार भी यह परीक्षा दे सकता है तथा पेशेवर लोग भी इस परीक्षा में भाग ले सकते हैं। 

तकनीकी डिग्री वाले उम्मीदवार भी इस परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं। एक मेडिकल छात्र भी इस परीक्षा के लिए आवेदन कर सकता है, लेकिन वह तभी आवेदन करत सकता है जब उसने अपनी डिग्री पूरी कर ली हो और इंटर्नशिप प्रोग्राम कर रहा हो। 

यदि कोई उम्मीदवार जिसने CA, ICSI और ICWA पास कर रखी है तो वह भी ये परीक्षा दे सकता है। परीक्षा पास करने के बाद इनमे से कोई भी आईएएस बन सकता है। 

जरुर पढ़ें :-गणित में कौन कौन सी जॉब होती है?

IAS के लिए आयु सीमा

आपको ऊपर में ही पता चल गया कि आईएएस बनाने के लिए यूपीएससी का एग्जाम देना अनिवार्य होता है। UPSC एग्जाम देने के लिए कम से कम 21 वर्ष आयु होना जरूरी है।

UPSC एग्जाम देने के लिए General category के लिए अधिकतम आयु सीमा 32 वर्ष है। जबकि OBC category के लिए 35 वर्ष एवं SC/ST category के लिए 37 वर्ष है।

यदि आप ऊपर दिए गए आयु के अंतर्गत आते हैं तो आप यूपीएससी की परीक्षा देने के लिए एलिजिबल होते हैं और यदि आयु आपकी उससे कम या ज्यादा है तो आप यूपीएससी की परीक्षा देने से वंचित रह जाएंगे।

जरुर पढ़ें :-इंफोसिस क्या है?

IAS के लिए शारीरिक योग्यता

आपको यह पता ही होगा कि पुलिस विभाग में किसी भी पोस्ट में जाने के लिए शारीरिक योग्यता बहुत ही महत्वपूर्ण होती है अर्थात शारीरिक योग्यता का होना बहुत जरूरी है नहीं तो आप पुलिस विभाग में किसी भी पोस्ट पर जॉब नहीं कर सकते हैं।

तो आपको आज हम बताएंगे कि एक आईएएस बनाने के लिए जो शारीरिक योग्यता होती है वह क्या क्या होनी चाहिए और किन-किन योग्यताओं का नहीं होने से आप एक आईएएस ऑफिसर नहीं बन सकते हैं।

एक IAS ऑफिसर  बनने के लिए कोई भी हाइट, वजन या छाती की न्यूनतम आवश्यकता नहीं है। उम्मीदवार की आँखों की दृष्टि उचित होनी चाहिए, यदि आपके चश्मा लगा है या आपने कोई सुधार किया है जैसे LASIK, ICL या IOL तो आप योग्य नहीं  हैं। 

उम्मीदवार को मधुमेह (diabetes) नहीं होना चाहिए यदि आपको मधुमेह कि समस्या है तो आप इस पोस्ट के योग्य नहीं हैं। 

उम्मीदवार के दांत अच्छे क्रम में होने चाहिए तथा उम्मीदवार के दिल और फेफड़े स्वस्थ होने चाहिए। पेट से जुड़ा कोई रोग उम्मीदवार को नहीं होना चाहिए इसमे से किसी में दिक्कत होने पर आप इस पोस्ट के योग्य नहीं हैं। 

हाथ, पैर और अंगों की बनावट सही होनी चाहिए और जोड़ों के movement में कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए। अभ्यार्थी में कोई जन्मजात दोष या विकृति नहीं होनी चाहिए तथा कोई जटिल या पुरानी बीमारी से ग्रस्त नहीं होना चाहिए। 

यदि उम्मीदवार को ग्रेड 1 बवासीर है तो उसे फिट घोषित किया जाता है लेकिन यदि ग्रैड 1 के अलावा है तथा हर्निया, वैरिकाज़ नस या बवासीर जैसी बीमारियां है तो उम्मीदवार को अस्थायी तौर पर अनफिट घोषित कर दिया जाता है और सफल सर्जरी के बाद फिट घोषित किया जा सकता है। 

यदि अभ्यर्थी ने कोई अंग ट्रांसप्लांट करवाया है तो उसे अनफिट घोषित कर दिया जाता है। उम्मीदवार को कान से जुड़ा कोई रोग नहीं होना चाहिए और सुनने की क्षमता अच्छी होनी चाहिए। 

ऊपर दिए गए सभी शारीरिक योग्यता यदि आप में है तो आप एक आईएएस ऑफिसर बनने के लिए एलिजिबल हो जाते हैं और आप एक आईएएस ऑफिसर बन सकते हैं।

जरुर पढ़ें :-पीसीएस (Pcs) में कौन कौन सी पोस्ट होती है

प्रयासों की संख्या

प्रयासों की संख्या से मतलब है कि आप यूपीएससी की परीक्षा कितनी बार दे सकते हैं अर्थात आप यूपीएससी की परीक्षा को कितने प्रयास में क्लियर कर सकते हैं जोकि लिमिटेड होती है।

तो आपको बता दें कि जनरल कैटेगरी के तहत आने वाले उम्मीदवार 6 बार प्रयास कर सकते हैं। OBC कैटेगरी में आने वाले उम्मीदवार 9 बार प्रयास कर सकते हैं तथा SC/ST के उम्मीदवारों के लिए कोई लिमिट नहीं है, वे 37 वर्ष की आयु तक जितनी बार चाहे परीक्षा दे सकते हैं। 

आप अपने कैटेगरी के अनुसार यूपीएससी की परीक्षा दे सकते हैं और आपकी केटेगरी के अनुसार जितने बार प्रयास दिया गया है उतने प्रयास में जल्दी आप परीक्षा क्लियर कर लेते हैं तो आप एक आईएएस ऑफिसर बन जाते हैं।

आपके कैटेगरी के अनुसार जितनी बार परीक्षा के लिए प्रयासों की संख्या दी गई है उतने प्रयास में यदि आप यूपीएससी का एग्जाम क्लियर नहीं कर पाते हैं तो आप एक आईएएस ऑफिसर नहीं बन सकते हैं।

जरुर पढ़ें :-कॉमर्स में कौन-कौन सी जॉब होती है?

CONCLUSION :- भारत में कितने आईएएस है | Bharat Mein Kitne IAS Hain

आपको इस लेख के माध्यम से हमने बताने का कोशिश किया है कि भारत में कितने आईएएस है (Bharat Mein Kitne IAS Hain) और इससे संबंधित सभी प्रकार के सवालों का भी जवाब इस लेख में दिया गया है।

आज का यह लेख भारत में कितने आईएएस है (Bharat Mein Kitne IAS Hain) जिसको अच्छे से बताने का कोशिश किया गया है और यह उम्मीद करता हूं कि आपको यह लेख बहुत पसंद आया होगा।

आप लोग जरूर बताएं कि आज का यह लेख आप लोगों को कैसा लगा और यदि इसके बाद भी आपके मन में किसी प्रकार का सवाल या सुझाव हो तो आप कमेंट बॉक्स में अपना कमेंट कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें :-

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *