join Telegram channel Join Now
join WhatsApp channel Join Now

bpsc kya hota hai | BPSC क्या है

bpsc kya hota hai (BPSC क्या है) आज के लेखक के माध्यम से हम जानने वाले हैं और साथ ही बीपीएससी से संबंधित कई सारे छात्र का पूछा गया सवाल का भी जवाब आज हम जानेंगे।

बिहार में वैसे छात्र जो सरकारी नौकरी करना चाहते हैं वह बीपीएससी परीक्षा को पास करने के लिए पढ़ाई करते हैं, क्योंकि बीपीएससी परीक्षा को पास करने के बाद ही वह कई सारे सरकारी नौकरी को कर सकते हैं।

बिहार में नौकरी देने के लिए एक परीक्षा का आयोजन किया जाता है जिसे बीपीएससी परीक्षा कहा जाता है अर्थात इस परीक्षा को पास करने के बाद आप बिहार में नौकरी कर सकते हैं।

bpsc kya hota hai | BPSC क्या है | BPSC में कितने सब्जेक्ट होते है?
bpsc kya hota hai | BPSC क्या है

बहुत सारे छात्र बिहार में नौकरी करना चाहते हैं जिसमें पुलिस की नौकरी सर्वश्रेष्ठ मानी जाती है और अधिकतर छात्र पुलिस की नौकरी करना चाहते हैं।

ऐसे में उनको पता होता है कि नौकरी करने के लिए बीपीएससी का एग्जाम देना होता है और बीपीएससी का एग्जाम पास किए बगैर वह नौकरी नहीं कर सकता है।

ऐसे में बहुत सारे छात्रों का यह सवाल रहता है कि BPSC क्या है (bpsc kya hota hai) तो चलिए आज के इस लेकर के माध्यम से हम इसके बारे में डिटेल में जानते हैं।

तो आप इस लेख को पूरा अंदर तक पढ़े ताकि आपको सभी प्रकार की जानकारी अच्छे से समझ में आ जाए और आपको आगे कहीं भी किसी प्रकार की दिक्कत ना हो।

bpsc kya hota hai | BPSC क्या है

BPSC का फुल फॉर्म Bihar public service commission होता है, जिसे हिंदी में बिहार लोक सेवा आयोग कहा जाता है। 

बीपीएससी बिहार सरकार के द्वारा आयोजित की जाने वाली एक परीक्षा होती है, जिसमें मेरिट के आधार पर उम्मीदवारों का चयन किया जाता है। 

बीपीएससी के बारे में बात किया जाए तो बीपीएससी भारत सरकार द्वारा बनाया गया एक संस्था है जो कि बिहार में सिविल सेवा उपलब्ध कराती है।

डी पी एस सी के द्वारा प्रतियोगी परीक्षा लिया जाता है आपको बता दें कि बीपीएससी में बहुत सारे अच्छे और बेहतर पद के लिए परीक्षा होती है।

जिसे पास करने के बाद आप बिहार राज्य में नौकरी कर सकते हैं और बिहार राज्य को सुचारू रूप से चलाने के लिए अपना योगदान दे सकते हैं।

बीपीएससी के अंतर्गत बहुत सारे पद आते हैं जिनमें आप  परीक्षा को पास करने के बाद नौकरी कर सकते हैं आपको बता दें कि इसके अंतर्गत आने वाले पदों में बहुत बड़े बड़े पद भी होते हैं जिसकी सैलरी भी बहुत अधिक होती है।

बिहार लोक सेवा आयोग का स्थापना 1 नवंबर 1956 को हुआ था आपको बता दें कि उस समय यह संस्था बिहार और झारखंड में सिविल सेवा के लिए ग्रुप ए और बी पदों पर भर्ती कराने के लिए स्थापित किया गया था।

उस समय झारखंड और बिहार एक ही राज्य था जो बिहार के नाम से था और 2000 में बिहार राज्य से झारखंड राज्य को अलग किया गया जिसके बाद लोक सेवा आयोग में भी बदलाव हुई।

बिहार के लिए बीपीएससी लोक सेवा आयोग रखा गया तथा झारखंड के लिए लोक सेवा आयोग बदल दिया गया जिसे जेपीएससी के नाम से जाना जाता है।

JPSC का फुल फॉर्म Jharkhand public service commission होता है जिसे हिंदी में झारखंड लोक सेवा आयोग कहा जाता है।

यह भी पढ़ें :-UPSC की तैयारी में कितना खर्च आता है

बीपीएससी का कोर्स कितने साल का होता है?

बीपीएससी की तैयारी करने में लगभग 2 वर्ष से 3 वर्ष का समय लगता है 2 से 3 वर्ष में आपका बीपीएससी का तैयारी अच्छी तरह से हो जाती है उसके बाद आप बी पी एस सी की परीक्षा आसानी से दे सकते हैं।

आपको बता दें कि बीपीएससी की परीक्षा में काफी सारे किताबों से प्रश्न पूछे जाते हैं जिसमें आपके आठवीं कक्षा के किताबों से लेकर बारहवीं कक्षा के किताबों तक प्रश्न आते हैं।

इसलिए यदि आप अभी पीएससी की तैयारी करना चाहते हैं तो आप आठवीं कक्षा के किताब से लेकर बारहवीं कक्षा के किताब तक अच्छी तरह से पढ़ लें।

बहुत सारे ऐसे कोचिंग सेंटर है जहां पर बीपीएससी की तैयारी कराई जाती है आप उस कोचिंग सेंटर में जॉइनिंग करके बीपीएससी की तैयारी कर सकते हैं।

यदि आप अभी दसवीं कक्षा में है या 12वीं कक्षा में है तो आपको बता दें कि आप अच्छे से किताबों की पढ़ाई करें क्योंकि बीपीएससी में इन्हीं सब किताबों से प्रश्न पूछे जाते हैं।

यह भी पढ़ें :-IAS की तैयारी में कितना खर्च आता है?

BPSC में कौन कौन से पोस्ट आते हैं?

बीपीएससी में बहुत सारे पोस्ट आते हैं अर्थात बी पी एस सी की परीक्षा देकर आपका ही सारे सिविल सर्विसेज की नौकरी कर सकते हैं।

कुछ पॉपुलर सिविल सर्विसेज नौकरी इस प्रकार है जो बीपीएससी के अंतर्गत आते हैं जोकि निम्नलिखित हैं।

  • Deputy Collector
  • Jail Superintendent
  • Regional Traffic Officer
  • Assistant Commission
  • Assistant Police Officer
  • District Minority Welfare Officer
  • Block Development Officer
  • Etc……………

ऊपर दिए गए पोस्ट के अलावा भी कई सारे ऐसे पोस्ट बीपीएससी के अंतर्गत आते हैं जिसे आप बीपीएससी की परीक्षा देकर कर सकते हैं।

आपको बता दें कि बीपीएससी बिहार में लिए जाने वाले सिविल सर्विसेज की परीक्षा होती है और बिहार में सिविल सर्विसेज के बहुत सारे नौकरी बीपीएससी के द्वारा ही चयन किया जाता है।

यदि आप बिहार से हैं अथवा बिहार में नौकरी करना चाहते हैं तो आप बीपीएससी की तैयारी जरूर करें क्योंकि बीपीएससी में सिविल सर्विसेस से संबंधित काफी सारे पदों पर चयन किया जाता है। 

यह भी पढ़ें :-आईएएस की सैलरी कितनी होती है

बीपीएससी के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए?

बीपीएससी (Bihar Public Service Commission) के लिए न्यूनतम योग्यता की बात की जाए तो इसमें कम से कम उम्मीदवार को स्नातक होना जरूरी होता है तथा आपको बता दें कि यदि उम्मीदवार ग्रेजुएशन के फाइनल ईयर में है तो भी इसमें आवेदन कर सकते हैं।

ग्रेजुएशन के फाइनल ईयर में छात्र आवेदन कर सकते हैं क्योंकि जब तक बीपीएससी का आवेदन से लेकर परीक्षा तक की प्रक्रिया होती है तब तक उम्मीदवारों का ग्रेजुएशन फाइनल हो जाता हैं।

आपको बता दें कि बीपीएससी परीक्षा में शामिल होने के लिए उम्मीदवारों की आयु सीमा न्यूनतम 20 वर्ष और अधिकतम 37 वर्ष होनी चाहिए।

आयु सीमा को कैटेगरी के आधार पर विशेष छूट भी दिए जाते हैं यदि आप ओबीसी में आते हैं तो आप की अधिकतम आयु सीमा 40 वर्ष होती है तथा यदि आप sc-st में आते हैं तो आप की अधिकतम सीमा 42 वर्ष होती है।

अधिक जानकारी के लिए आप अभी पी एस सी के ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर जानकारी हासिल कर सकते हैं वहां से आपको सभी प्रकार की जानकारी मिल जाएगी।

यह भी पढ़ें :-पुलिस की सैलरी कितनी होती है?

BPSC में कितने सब्जेक्ट होते है?

बीपीएससी में सब्जेक्ट की बात की जाए तो इसमें लगभग 10 सब्जेक्ट को पढ़ना पड़ता है जिसके अंतर्गत ही सवाल पूछे जाते हैं।

चलिए जानते हैं कि बीपीएससी के अंतर्गत कौन-कौन से सब्जेक्ट हैं जिसे सिलेबस में शामिल किया गया है और जो प्रश्न परीक्षा में पूछे जाते हैं जोकि निम्नलिखित है।

  • विज्ञान
  • भूगोल
  • इतिहास
  • समसामयिक घटनाएं
  • भारतीय राजव्यवस्था
  • अर्थशास्त्र
  • हिंदी
  • रीजनिंग
  • निबंध
  • ऐच्छिक विषय 

ऊपर दिए गए सब्जेक्ट को बीपीएससी के अंतर्गत शामिल किया गया है इसके अलावा भी कुछ और सब्जेक्ट से प्रश्न पूछे जा सकते हैं।

यदि आप बीपीएससी का तैयारी करना चाहते हैं तो एनसीईआरटी का किताब पढ़ना बहुत जरूरी है क्योंकि बीपीएससी का सिलेबस में एनसीईआरटी का महत्वपूर्ण योगदान है।

एनसीईआरटी के बारे में बात किया जाए तो बीपीएससी में अधिकतर प्रश्न एनसीईआरटी के किताब से ही पूछे जाते हैं इसलिए आप आठवीं क्लास के किताब से लेकर 12वीं क्लास के किताब एनसीईआरटी को पढ़ लें।

यह भी पढ़ें :-12वीं के बाद बैंक में जॉब कैसे करें

बीपीएससी में हाइट कितना चाहिए?

बीपीएससी में हाइट की बात की जाए तो पुरुषों तथा महिलाओं की हाइट अलग-अलग होती है तथा इसमें कैटेगरी के अनुसार छूट भी दी जाती है।

चलिए जानते हैं कि बीपीएससी में महिलाओं तथा पुरुषों के लिए कितनी हाइट रखी गई है तथा किन किन उम्मीदवारों को विशेष छूट दिया गया है जो कि निम्नलिखित है।

शारीरिक मापसामान्य उम्मीदवारों के लिए (पुरुष)एससी / एसटी उम्मीदवार (पुरुष)महिला उम्मीदवारों के लिए
छाती (बिना विस्तार के)32 इंच31 इंचलागू नहीं
ऊंचाई5 फीट 5 इंच5 फीट 3 इंच5 फीट 2 इंच

ऊपर सारणी से पता चल गया होगा कि बीपीएससी में हाइट तथा छाती कितनी होनी चाहिए जिसमें पुरुष तथा महिलाओं दोनों के लिए अलग-अलग है तथा कैटेगरी के लिए विशेष छूट भी दिया गया है।

नोट :- अधिक जानकारी के लिए आप बीपीएससी के ऑफिसर वेबसाइट को विजिट कर सकते हैं वहां आप को बारीकी से सभी प्रकार की जानकारी मिल सकती है और वह जानकारी लेटेस्ट जानकारी होगी।

यह भी पढ़ें :-12वीं के बाद आईपीएस कैसे बनें 

बीपीएससी के लिए कौन कौन सी बुक पढ़े?

बीपीएससी के लिए कई सारे किताब आप पढ़ सकते हैं जिसमें से कुछ किताबों का लिस्ट हम निम्नलिखित दिए हैं अब निम्नलिखित दिए गए किताबों को पढ़कर बीपीएससी का तैयारी कर सकते हैं।

आपको बता दें कि बीपीएससी में दो पेपर होते हैं पेपर 1 तथा पेपर 2 तो चलिए जानते हैं कि दोनों पेपर में कौन-कौन से सब्जेक्ट है जो कि निम्नलिखित है।

Paper 1

  • प्राचीन भारत  
  • प्राचीन इतिहास 
  • भारत का प्राचीन इतिहास 
  • मध्यकालीन भारत: एक सर्वेक्षण   

Paper 2

  • आधुनिक भारत का इतिहास: एक नवीन मूल्यांकन  
  • आधुनिक भारत का इतिहास
  • विश्व इतिहास
  • विश्व इतिहास का सर्वेक्षण

ऊपर दिए गए किताबों को आप अच्छे से पढ़ लें क्योंकि बीपीएससी के सिलेबस में इन सभी किताबों से ही प्रश्न पूछे जाते हैं।

इसके अलावा भी आप एनसीईआरटी के सभी किताबों को पढ़ लें जो कि कक्षा आठवीं से कक्षा बारहवीं तक होती है उन सभी किताबों को आप अपने पास रखें तथा रिवीजन करते रहे।

यह भी पढ़ें :-UPSC की तैयारी में कितना खर्च आता है

बीपीएससी की तैयारी के लिए कितना समय चाहिए?

बीपीएससी की तैयारी के लिए समय का बात किया जाए तो इसकी तैयारी करने में लगभग 6 महीने से 2 साल तक का समय लगता है।

यह आप पर भी निर्भर करता है कि आप कितना समय तैयारी में लगाते हैं और आप पहले से कितना तैयारी कर चुके हैं अर्थात बीपीएससी की तैयारी आपका दसवीं क्लास से ही शुरू हो जाती है।

कहने का मतलब है कि बीपीएससी का सिलेबस दसवीं कक्षा के बुक तथा 12वीं कक्षा की बुक से ही रहता है और यदि आप 10वीं और 12वीं में अच्छे से पढ़ाई किए हुए हैं तो आप काफी कम समय में बीपीएससी की तैयारी कर सकते हैं।

यदि आप दसवीं कक्षा में है या 12वीं कक्षा में है तो आप अभी से ही बीपीएससी का तैयारी करना शुरू कर दें क्योंकि जब तक आपका ग्रेजुएशन कंप्लीट होगा तब तक आपका बीपीएससी का सिलेबस भी कंप्लीट हो जाएगा।

बीपीएससी का सिलेबस कंप्लीट होते ही आप अप्लाई करेंगे और परीक्षा में अच्छे मार्क्स से पास कर पाएंगे इसलिए आप अभी से अपना तैयारी शुरू कर दें।

यह भी पढ़ें :-12वीं के बाद कलेक्टर कैसे बने

CONCLUSION :- bpsc kya hota hai | BPSC क्या है

आज के इस लेख के माध्यम से हमने जाना कि BPSC क्या है (bpsc kya hota hai) और साथ ही लोगों द्वारा पूछे गए कुछ सवालों के जवाब भी जाना।

हमको उम्मीद है कि आज का यह लेख “BPSC क्या है (bpsc kya hota hai)” आपको काफी अच्छा लगा होगा।

Bpsc से संबंधित सभी प्रकार के सवालों का जवाब आज हम इस लेख के माध्यम से समझ गए हैं तथा लोगों द्वारा पूछे गए सभी सवालों का जवाब भी आज हम जाने।

इसके अलावा भी आपके मन में किसी प्रकार का सवाल है तो आप कमेंट कर सकते हैं आपके सवालों का जवाब जल्द से जल्द दिया जायेगा।

यह भी पढ़ें :-

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *