कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर का काम क्या होता है | CHO Ka Kam Kya Hota Hai

कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर का काम क्या होता है | CHO Ka Kam Kya Hota Hai आज के इस लेख के जरिए हम इसी के बारे में जानने वाले हैं और इसके साथ ही और भी सवालों का जवाब हम जानने वाले हैं जो कि लोगों द्वारा इससे संबंधित सवाल पूछे गए हैं। 

कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर को हिंदी में सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी कहते हैं जिसे शार्ट में सी एच ओ (CHO) भी कहा जाता है।

CHO प्रधानमंत्री के द्वारा आयुष्मान भारत योजना के तहत लाया गया था जिसको प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना भी कहा जाता है।

कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर के बारे में बात किया जाए तो हमारे देश में स्वास्थ्य से जुड़ी कई सारे उपकेंद्र है जिसको आयुष्मान भारत योजना के आने के बाद एचडब्ल्यूसी (HWC) में बदल दिया गया जिसे हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर भी कहा जाता है।

हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर को हैंडल करने के लिए आयुष्मान भारत योजना के द्वारा एक पोस्ट निकाली गई जिसे कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर या सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी का जाता है।

कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर का काम ग्रामीण इलाकों में स्वास्थ्य सेवा प्रदान करना होता है।

यह गांव के मरीजों को इलाज करता है तथा ग्रामीण क्षेत्रों में ओपीडी का संचालन करता है और गर्भवती और स्तनपान करने वाली महिलाओं को उचित सलाह देता है।

ऐसा देखा जाए तो कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने में अपनी अहम भूमिका निभाते हैं और आवश्यकता पड़ने पर स्वास्थ्य से जुड़े उपचार आदि कई सारे प्राथमिक उपचार मुहैया कराने का काम करते हैं।

कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर का काम क्या होता है
कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर का काम क्या होता है | Cho के कार्य क्या होता है?

कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर को सभी राज्यों में रखा जाता है तथा इसके अलावा कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर को मिड लेवल हेल्थ प्रोवाइडर भी कहा जाता है।

तो चलिए आज के इस लेख के माध्यम से हम जानते हैं कि कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर का काम क्या होता है | CHO Ka Kam Kya Hota Hai जो कि इस लेख में अच्छे तरीके से बताया गया है।

तो आप लोग यह लेख को पूरा अंत तक पढ़े हैं ताकि आपको यह समझ में आ जाए कि कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर का काम क्या होता है | CHO Ka Kam Kya Hota Hai और किसी प्रकार की दिक्कत आपको ना रहे।

कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर का काम क्या होता है | CHO Ka Kam Kya Hota Hai

कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर के काम के बारे में बात किया जाए तो यह एक सामुदायिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता का एक समुदाय का सदस्य होता है।

जिसको समुदाय के सदस्यों द्वारा अपने समुदाय के अंदर स्वास्थ्य और चिकित्सा को देखभाल तथा प्रदान करने के लिए चुना जाता है।

एक कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर को अपने समुदाय में सूचना और सेवाएं प्रदान करने के लिए उचित रूप से प्रशिक्षित किया जाता है।

सामुदायिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता सामुदायिक विकास में अपना योगदान देते हैं और समुदायों को बुनियादी स्वास्थ्य सेवाओं तक पहुंचाने में एवं सुधार करने में मदद करते हैं।

चलिए अब हम डिटेल में जानते हैं कि एक कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर का क्या-क्या काम होता है जोकि निम्नलिखित है।

  1. क्लीनिक या स्वास्थ्य केंद्र में जाने में असमर्थ रोगियों के घर का दौरा करना जैसे :- गर्भवती महिलाओं बुजुर्गों या उच्च जोखिम वाली बीमारियों के लिए।
  2. अपने रोगियों के स्वास्थ्य की तलाश करने वाले व्यवहार में सुधार करना एवं उनके सामने आने वाली स्थितियों और चुनौतियां को समझकर उसे नियोजित करना।
  3. उनकी स्थानीय आबादी को स्वास्थ्य जानकारी और सेवाएं प्रदान करना जैसे :- प्राथमिक चिकित्सा, निदान, परामर्श, टीके इत्यादि।
  4. रोगियों और मौजूदा स्वास्थ्य प्रणाली के बीच संचार कनेक्शन और देखभाल की सुविधा को उच्च स्तर तक प्रदान करना।
  5. अपने रोगियों को उपलब्ध स्वास्थ्य सुविधाओं जैसे क्लीनिक बीमा इत्यादि की समझ विकसित करना और उन्हें अच्छे तरीके से बताना।

ऊपर दिए गए प्वाइंटों में अच्छे से बताया गया है कि कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर का क्या काम होता है या सी एच ओ का काम क्या होता है (CHO Ka Kam Kya Hota Hai)।

जरुर पढ़ें :-प्राइवेट डॉक्टर कैसे बने

Community Health Officer क्या है  | CHO Kya Hai

कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर के बारे में बात किया जाए तो कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर आयुष्मान भारत योजना के तहत निकाली गई एक पोस्ट है जिसमें कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर का सिलेक्शन किया जाता है।

यह पोस्ट आयुष्मान भारत योजना के आने के बाद शुरू हुई जिसे हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर में बदल दिया गया और इसी हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर को हैंडल करने के लिए आयुष्मान भारत योजना के तहत पोस्ट निकाली गई जिसे कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर कहा जाता है।

कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर को शार्ट में सी एच ओ भी कहा जाता है जिसको हिंदी में सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी भी कहते हैं और इसके अलावा भी कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर को मीट लेबल हेल्थ प्रोवाइडर भी कहा जाता है।

कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर का काम स्वास्थ्य से जुड़े कार्य को करना होता है और इसके अलावा भी एक कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर को उनके ग्रामीण इलाकों में देख रेख करने के लिए रखा जाता है।

जरुर पढ़ें :सर्जन डॉक्टर कैसे बने

कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर की सैलरी कितनी होती है? | Cho की सैलरी कितनी होती है?

कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर की सैलरी की बात किया जाए तो एक कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर की सैलरी अलग-अलग शहर में अलग-अलग हो सकती है।

लेकिन फिर भी एक अनुपातिक तौर पर बात किया जाए तो यह भारत सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशों के अनुसार जिले में इसकी पोस्टिंग की जाती है और इनकी सैलरी ₹35000 के लगभग दी जाती है।

यदि हम राज्य के हिसाब से बात करें तो प्रत्येक राज्य में अलग-अलग हो सकती है किसी किसी राज्य में कम होती है तो किसी किसी राज्य में ज्यादा भी हो सकती है।

एक अनुपातिक तौर पर माना जाए तो इनकी सैलरी लगभग ₹25000 से ₹50000 तक होती है जो कि प्रत्येक शहर में अपने अनुसार से इसकी निर्धारण की जाती है।

और आपको बता दें कि एक कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर को सैलरी के अलावा भी बहुत सारी सुविधाएं दी जाती है और अलाउंस भी दिए जाते हैं।

जरुर पढ़ें :-12वीं के बाद डॉक्टर कैसे बने? 

Cho के कार्य क्या होता है? | सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी का काम क्या है?

सी एच ओ के कार्य के बारे में बात किया जाए तो इनका काम यह होता है कि यह प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल का नेतृत्व करना एवं समुदाय को चिकित्सा प्रबंधन और एंबुलेंस की देखभाल प्रदान करना।

ऐसा कहा जाए तो एक सी एच ओ का कार्य वहां के स्थानीय मरीजों की अच्छे से देखभाल करना एवं उनकी अच्छे से उपचार करना होता है।

इसके अलावा भी एक सी एच ओ का कार्य यह होता है कि वहां के स्थानीय लोगों को या स्थानीय मरीजों को बीमारी या बीमा से संबंधित जानकारी प्रदान करना।

ताकि वहां के लोग यह समझ सके कि उन्हें कौन से कदम उठाने में ज्यादा अच्छा होगी जो लाचार और बेबस लोग होते हैं।

CHO का Full Form “Community Health Officer” होता हैं। इसको हिंदी में सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी कहा जाता है।

यह अधिकारी ऐसे लोगों के लिए काम करते हैं जिन लोगों को चिकित्सा की आवश्यकता होती है और उन लोगों तक सही रूप से चिकित्सा नहीं पहुंच पाते हैं।

ऊपर हमने बताया है कि एक सीएसओ या कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर या सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी का क्या काम होता है जो कि बारीकी से बताया गया है पॉइंट वाइज उसे आप जाकर पढ़ सकते हैं और जान सकते हैं।

जरुर पढ़ें :जीएनएम के बाद डॉक्टर कैसे बने?

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कितने स्टाफ होते हैं?

बहुत सारे लोगों द्वारा यह सवाल पूछा जाता है कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कितने स्टाफ होते हैं तो आज हम आपको बताने वाले हैं कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कितने स्टेप होते हैं।

लेकिन आपको यह बताते हैं कि जैसे सैलरी प्रत्येक राज्य में अलग-अलग होती थी ठीक उसी प्रकार प्रत्येक राज्य में या प्रत्येक जिले में स्टाफ भी अलग-अलग होते हैं।

उस राज्य या उस जिले की पॉपुलेशन के आधार पर स्टाफ का सिलेक्शन किया जाता है यदि ज्यादा पॉपुलेशन है तो वहां पर ज्यादा स्टॉप दिए जाते हैं और यदि कम पॉपुलेशन है तो वहां पर कम स्टाफ दिए जाते हैं।

फिर भी एक अनुपातिक तौर पर जल्दी बात किया जाए तो एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में पांच से 10 चिकित्सक सहित कुल 18 कर्मचारी हो सकते हैं।

जिसमें नरसिंह मिडवाइफ की संख्या लगभग 10 हो सकती है तथा इन सबों का काम प्राथमिक सुविधाएं प्रदान करना होता है।

जरुर पढ़ें :-इंडियन आर्मी में डॉक्टर कैसे बने?

Cho का मतलब क्या होता है? | सी एच ओ की पोस्ट क्या होती है?

सी एच यू का मतलब का बात किया जाए तो सी एच ओ का फुल फॉर्म कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर होता है जिसे हिंदी में सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी के नाम से भी जाना जाता है।

इसे नेशनल हेल्थ मिशन के तहत चलाई जाती है और उसका उद्देश्य यह है कि इसके द्वारा ग्रामीण क्षेत्र में प्राइमरी हेल्थ सेंटर या सब सेंटर यादी में प्राथमिक चिकित्सा की सुविधाएं आसानी से उपलब्ध कराई जा सके।

ग्रामीण इलाकों के लोग आसानी से इस सुविधा को प्राप्त कर सके और उसे किसी भी प्रकार का दिक्कत ना हो और उन्हें चिकित्सा की सुविधा समय पर मिल सके।

यह एक बहुत ही बड़ा कदम है क्योंकि इसके पहले बहुत सारे बेबस और लाचार लोग बीमारी के कारण अपनी जान गवा देते थे लेकिन अब उन्हें एक उचित चिकित्सा उपलब्ध कराई जा सकती है।

जिससे वह अपने इलाज करा सके और अपनी बीमारी को दूर कर सके और एक स्वास्थ्य जीवन व्यतीत कर सकें।

जरुर पढ़ें :स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर कैसे बनें

CONCLUSION :- Cho के कार्य क्या होता है? | सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी का काम क्या है?

आज के इस लेख के माध्यम से हमने बताने का पूरी कोशिश किया है कि कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर का काम क्या होता है | CHO Ka Kam Kya Hota Hai और इससे संबंधित सभी प्रकार के सवालों का भी जवाब इस लेख में दिया गया है।

आज का यह लेख “कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर का काम क्या होता है | CHO Ka Kam Kya Hota Hai” जिसको अच्छे से बताने का कोशिश किया गया है और यह उम्मीद करता हूं कि आपको यह लेख बहुत पसंद आया होगा, और इस लेख की सारी जानकारी आपको अच्छे से समझ में आ गई होगी।

अतः आप लोग जरूर बताएं कि आज का यह लेख कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर का काम क्या होता है | CHO Ka Kam Kya Hota Hai आप लोगों को कैसा लगा और यदि आपके मन में किसी प्रकार का सवाल या सुझाव हो तो आप कमेंट बॉक्स में अपना कमेंट कर सकते हैं, जल्द से जल्द आपके सवालों का जवाब देने का प्रयास करूंगा।

यह भी पढ़ें :-

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *