GNM के बाद Doctor कैसे बनें? | GNM Ke Bad Doctor Kaise Bane -

GNM के बाद Doctor कैसे बनें? | GNM Ke Bad Doctor Kaise Bane

हेलो दोस्तों अक्सर लोगों के मन में यह सवाल रहता है कि “जीएनएम के बाद डॉक्टर कैसे बने? (GNM Ke Bad Doctor Kaise Bane) तो आज हम इस लेख (article) के माध्यम से जानेंगे कि GNM के बाद Doctor कैसे बनें? | GNM ke baad doctor kaise bane 

इसी के बारे में हम विस्तार से जानकारी देने वाले हैं। GNM (General Nursing & Midwifery) ये तीन साल छः महिना का कोर्स होता हैं, जिसे आमतौर पर GNM यानी कि General Nursing & Midwifery के रूप में जाना जाता है।

GNM के बाद Doctor कैसे बनें? | GNM ke baad doctor kaise bane
GNM के बाद Doctor कैसे बनें? | GNM ke baad doctor kaise bane 

GNM के कोर्स में 3 साल का कॉलेज और 6 महीने का Internship होता है। Internship का मतलब हॉस्पिटल में प्रेक्टिकल काम करना और कामों को सीखना होता हैं। यह एक डिप्लोमा स्तर का कोर्स होता हैं, जो उम्मीदवारों को Clinical Nursing  में अपना केरियर बनाने में सहायता प्रदान करता है।

GNM का मुख्य उद्देश्य प्रोफेशनल और अच्छे नर्सों को तैयार करना होता है, क्योंकि वो लोग एक अहम समय पर काम कर सकें और अपने ड्यूटी को पूरा कर सके। GNM के अलावा भी B.Sc. Nursing का Course होता  है, लेकिन कुछ बच्चे GNM के कोर्स को चुनते हैं और कुछ B.Sc. Nursing को चुनते हैं। 

इस पोस्ट के माध्यम से आज हम जानने वाले हैं कि GNM के बाद Doctor कैसे बनें? (GNM ke baad doctor kaise bane) अक्सर विद्यार्थियों को समझने में यह दिक्कत होती हैं कि GNM कोर्स को करने के बाद क्या करें? (GNM Course Ko Karne Ke Baad Kya Kare) 

आज आपलोगों को यह बता दें कि यह एक Diploma Level का Course होता है, यानी कि 12वीं के बाद GNM के Course को कर सकते हैं। ऐसे में GNM Course को करने के बाद सीधे PG या Master Degree के लिए आवेदन नहीं कर सकते हैं।

Table of Contents

GNM के बाद DOCTOR कैसे बनें? (GNM KE BAAD DOCTOR KAISE BANE)

यदि आप जीएनएम के बाद डॉक्टर (GNM ke baad doctor) बनना चाहते हैं, तो हम सभी लोग जानते हैं कि डॉक्टर बनना एक लंबा प्रोसेस का हिस्सा होता है। जीएनएम के बाद डॉक्टर बनने के दो रास्ते होते हैं पहला Direct दूसरा Indirect तरीके से आप डॉक्टर बन सकते हैं। इसमें धैर्य की आवश्यकता होती है अगर डॉक्टर बनना चाहते हैं तो इस लेख (article) में बारीकी से और विस्तार पूर्वक बताए गए हैं, उन्हें फॉलो करके एक डॉक्टर बन सकते हैं।

1. स्नातक की पढ़ाई पूरी करके डॉक्टर बनें (By Completing Your Graduation)

GNM Course को पूरा करने के बाद आप भी आप अंडर ग्रेजुएट ही रहते हैं, तो सबसे पहले आपको 2 साल कि पोस्ट बेसिक B.Sc. Nursing ज्वाइन करके Graduation होने की जरूरत है। पोस्ट बेसिक B.Sc. Nursing कोर्स को पूरा करने के बाद आप M.Sc. में एडमिशन भी ले सकते हैं। 

M.Sc की पढ़ाई पूरी करने के बाद PHD भी कर सकते हैं। इन पुरी प्रोसेस को करने के लिए करीब से करीब 8 से 9 वर्ष का समय लग सकता है। यह एक लंबा प्रोसेस है इतने समय तक आपको धैर्य रखना होता है, PHD करने के बाद एक डॉक्टर बन सकते हैं।

2. प्रतियोगिता परीक्षाओं को निकालकर डॉक्टर बनें (Entrance Exam Clear)

यदि आपलोग चाहते हैं कि प्रतियोगिता परीक्षाओं को निकालकर डॉक्टर बने तो आपलोगों को Entrance Exam देना चाहिए। और अच्छे नंबर से पास करने के बाद MBBS, BAMS, BDS जैसे Program में सीट प्राप्त कर सकते हैं।

हमारे देश में राष्ट्रीय स्तर पर और राज्य स्तर पर कई सारे प्रतियोगिताएं परीक्षाएं करवाई जाती है। जिनमें शामिल होकर इन प्रोग्राम में दाखिला प्राप्त कर सकते हैं। कुछ प्रतियोगिता परीक्षाएं राष्ट्रीय स्तर और राज्य स्तर पर देखा जाए निम्न हैं :–

Exam NamesExam Types
NEETNational Level
AIIMSNational Level
JIPMERNational Level
MGIMS-WardhaNational Level
MU-OET, ManipalNational Level
CMC LudhianaNational Level
CMC VelloreNational Level
GG-SIPU CET, DelhiNational Level
Assam CEE (MBBS)State Level
EAMCET- AP (MBBS)State Level

इनके अलावा भी और कई सारे परीक्षाएं राष्ट्रीय स्तर पर होती है जिसमे आप आवेदन कर सकते हैं। जैसे कि हम सभी लोग जानते हैं कि सभी परीक्षाओं के अलग-अलग क्राइटेरियां होते हैं, अगर आपका योग्यता इन क्राइटेरियों में शामिल होता है तो आप इन कोर्सों को कर सकते हैं।

इन प्रोग्राम को करने के बाद बैचलर डिग्री की पढ़ाई कर सकते हैं। इन सारे प्रोसेस को कंप्लीट करने के लिए कम से कम 5 से 6 साल का समय लग सकता है, उसके बाद आप एक डॉक्टर बन सकते हैं।

यह भी पढ़ें :-जीएनएम कोर्स की फीस कितनी है?
यह भी पढ़ें :-Gnm की सैलरी कितनी होती है

Gnm की सैलरी कितनी है? | GNM ki salary kitni hai

जीएनएम की सैलरी की बात की जाए तो एक जीएनएम को शुरुआती सैलरी लगभग ₹15000 से ₹30000 तक दी जाती है और एक्सपीरियंस बढ़ने के साथ-साथ सैलरी भी बढ़ा दी जाती है जो सैलरी लगभग ₹60000 तक भी हो सकती है।

जीएनएम की सैलरी की बात की जाए तो यह अलग-अलग जगह पर अलग-अलग हो सकती है काफी सारे जगहों पर जीएनएम की सैलरी बहुत अधिक दी जाती है तो कुछ कुछ जगहों में जीएनएम की सैलरी कुछ कम दी जाती है।

यदि आप जीएनएम करके किसी प्राइवेट अस्पताल में जॉब करते हैं तो आपकी सैलरी थोड़ी कम होती है लेकिन एक्सपीरियंस बढ़ने के अनुसार आपकी सैलरी भी बढ़ा दी जाती है।

वहीं यदि आप जीएनएम कोर्स को करने के बाद किसी सरकारी अस्पताल में जॉब करते हैं तो आपकी सैलरी अच्छी खासी वहां की जाती है जो कि लगभग ₹20000 से ₹25000 तक मंथली सैलरी हो सकती है।

यदि आप जीएनएम कोर्स को कर लिए हैं तो आप हमेशा सरकारी अस्पताल में कोशिश करें कि वहां पर आपके नौकरी लग जाए क्योंकि सरकारी अस्पताल में बहुत सारे चीज सीखने को भी मिलता है और अच्छी खासी सैलरी भी दी जाती है।

यदि आप को सरकारी अस्पताल में नौकरी ना मिले तो आप प्राइवेट अस्पताल में नौकरी कर सकते हैं यहां सैलरी थोड़ी कम दी जाती है लेकिन एक्सपीरियंस बनाने के साथ-साथ आपकी सैलरी बढ़ा दी जाती है।

प्राइवेट अस्पताल में नौकरी करने के साथ-साथ आप सरकारी हस्पताल में नौकरी ढूंढ सकते हैं और जैसे ही आप को सरकारी अस्पताल में नौकरी मिल जाए तो आप आसानी से प्राइवेट अस्पताल में नौकरी छोड़कर सरकारी अस्पताल में कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें :-GNM में कितने सब्जेक्ट होते हैं?
यह भी पढ़ें :-बीएससी नर्सिंग करने के फायदे
यह भी पढ़ें :-बी फार्मा की फीस कितनी है?

जीएनएम करने से क्या फायदा होता है?

जीएनएम करने से उम्मीदवारों को गर्भवती महिलाओं और मरीजों की देखभाल करने तथा उनसे संबंधित विशेषज्ञता हासिल करने में मदद करती है।

जीएनएम करने के बाद आप आसानी से नर्स के रूप में किसी भी प्राइवेट या सरकारी अस्पताल में जॉब कर सकते हैं और अपना करियर बना सकते हैं।

जीएनएम करने के बाद आप एक डॉक्टर भी बन सकते हैं इसके लिए आपको सबसे पहले स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के बाद पोस्ट ग्रेजुएशन का कोर्स करना होता है उसके बाद आप एमबीबीएस कोर्स करने के बाद डॉक्टर बन सकते हैं।

जीएनएम करने के बाद अब प्रतियोगी परीक्षाओं को निकालकर भी एक डॉक्टर बन सकते हैं उसके लिए नीट का एग्जाम क्लियर करना होता है उसके बाद एमबीबीएस करने के बाद आप एक डॉक्टर बन सकते हैं।

जीएनएम का फुल फॉर्म जनरल नर्सिंग एंड मिडवाइफरी होता है जीएनएम कोर्स बहुत ही पॉपुलर कोर्स मेडिकल के क्षेत्र में माना जाता है जिसे करने के बाद आसानी से कोई भी उम्मीदवार नर्स बन सकता है और आसानी से किसी भी अस्पताल में नौकरी प्राप्त कर सकता है।

यदि आप मेडिकल के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं या एक नर्स के रूप में जॉब करना चाहते हैं तो अब जीएनएम कोर्स को कर सकते हैं जीएनएम कोर्स करने के बाद आप तो आसानी से एक नर्स बन सकते हैं।

जीएनएम कोर्स में नर्स के कार्य तथा मरीज के देखभाल के लिए कई सारे स्किल्स के बारे में बताए जाते हैं और कई सारे ऐसे टिप्स और ट्रिक्स बताए जाते हैं जिससे अब मरीज का देखभाल आसानी से कर सकते हैं और कई सारे मेडिकल इक्विपमेंट्स के बारे में भी बताया जाते हैं।

जीएनएम कोर्स में बहुत सारे दवाईयां तथा इंजेक्शंस के बारे में भी बताया जाते हैं जिससे आप एक छोटा-मोटा डॉक्टर का भी कार्य कर सकते हैं लेकिन किसी एमबीबीएस डॉक्टर के अंडर में ही आप कार्य कर सकते हैं।

जरुर पढ़ें :-12वीं के बाद डॉक्टर कैसे बने? 

डॉक्टर क्यों बनें? (Doctor kyon bane)

अब सवाल उठता है कि आप डॉक्टर क्यों बनना चाहते हैं? कुछ लोग कहेंगे कि डॉक्टर की एक अलग ही सम्मान होती है, अच्छी सैलरी भी होती है और सोसाइटी में डॉक्टर की अलग ही इमेज होती है। यह बिल्कुल सही बात है ऐसे ही होता है।

लेकिन आपको देखना है कि आप डॉक्टर बनना क्यों चाहते हैं? आपका डॉक्टर बनने का उद्देश्य क्या है? अगर आप अपने सैलरी के लिए डॉक्टर बनना चाहते हैं तो इतनी लंबी प्रोसेस को झेलने का जरूरत नहीं है। अगर दोस्तों आपको डॉक्टर ही बनना है तो इन सारे प्रोसेस को फॉलो करना है।

अगर सैलरी के दृष्टिकोण से देखा जाए तो अगर आप एक जीएनएम (GNM) हैं और आपकी वेतन या सैलरी नहीं बढ़ रहे हैं तब क्या करें? GNM Course के बाद B Sc. Nursing कोर्स पूरा कर लेते हैं इसके बाद M.Sc. भी कर लेते हैं तब आपकी सैलरी आसानी से 30,000 से 50,000 के बीच मिल सकते हैं।

दोस्तों आप लोग भारत के किसी भी शहरों से आते हैं आपकी सैलरी आसानी से 30000 से 50,000 के बीच प्रति महीने प्राप्त कर सकते हैं। 

यह भी पढ़ें :-Gnm की सैलरी कितनी होती है

जीएनएम कोर्स कैसे करें? (GNM Course Kaise Kare)

जीएनएम कोर्स कैसे करें? (GNM Course Kaise Kare)– जीएनएम कोर्स (GNM Course) करने के लिए सबसे पहले 12वीं की पढ़ाई Science Stream में पीसीबी (PCB) विषय के साथ 50% अंक लाने पढ़ते हैं तभी जाकर आप एक सरकारी कॉलेज में जीएनएम का कोर्स कर सकते हैं इसके लिए आपको प्रतियोगिता परीक्षाएं पास करनी पड़ती है।

जीएनएम का फीस कितना होता है? (GNM Ka Fees Kitna Hota Hai)

जीएनएम कोर्स (GNM nursing admission) की फीस सरकारी(Government) और प्राइवेट(Private) कॉलेजों में अलग-अलग होती है। 

जीएनएम कोर्स की फीस सरकारी कॉलेजों में देखा जाए तो 30000 से 45000 रूपए तक होती है। एवं प्राइवेट कॉलेजों में जीएनएम कोर्स की फीस बात किया जाए तो 1,00000 से 3,90,000 रूपए तक होती है।

मेडिकल सेक्टर से जुड़े कुछ कोर्स और उनके फुल फॉर्म

मेडिकल सेक्टर से जुड़े कुछ कोर्स और उनके फुल फॉर्म जो कि बहुत महत्वपूर्ण है, मेडिकल के क्षेत्र को अच्छे से जानने के लिए जो कि निम्नलिखित दिया गया है।:-

  • MBBS :- Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery
  • B.Sc Nursing :- Bachelor of Science in Nursing
  • BHMS :- Bachelor of Homeopathic Medicine and Surgery
  • BDS :- Bachelor of Dental Surgery
  • BUMS :- Bachelor of Unani Medicine and Surgery
  • BPT :-  Physiotherapy
  • B.Pharma :- Bachelor of Pharmacy
  • Pharm D :- Doctor of Pharmacy
  • BAMS :- Bachelor of Ayurvedic medicine and Surgery
जरुर पढ़ें :स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर कैसे बनें

MBBS क्या है?

MBBS (Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery) एक प्रकार का कोर्स है जो डॉक्टर बनने के लिए करना अनिवार्य माना जाता है। भारत में सबसे ज्यादा लिए जाने वाले MBBS की डिग्री है, इसका मतलब ज्यादा से ज्यादा छात्र मेडिकल एंट्रेंस के बाद MBBS लेना पसंद करते हैं, इसलिए एमबीबीएस जैसे कोर्स में कंपटीशन सबसे ज्यादा होती है।

डॉक्टर कितने प्रकार के होते हैं

डॉक्टर 4 प्रकार के होते है –

  1. एलोपैथिक डॉक्टर
  2. होमियोपैथिक डॉक्टर
  3. आयुर्वेदिक डॉक्टर या वैध
  4. यूनानी डॉक्टर या हकीम

FAQ’S

Q1. जीएनएम का फुल फॉर्म क्या है? (GNM Full Form in hindi)

Ans– जीएनएम का फुल फॉर्म General Nursing & Midwifery होता हैं।

Q2. जीएनएम कौन सी पढ़ाई है? (GNM Kaun Si Padhai Hai)

Ans– GNM की पढ़ाई मेडिकल के क्षेत्र में डिप्लोमा की पढ़ाई है।

Q3. जीएनएम का फीस कितना होता है? (GNM Ka Fees Kitna Hota Hai)

Ans– सरकारी कॉलेजों में 30,000 से 45,000 और प्राइवेट कॉलेजों में 1,00000 से 3,90,000 तक।

जरुर पढ़ें :सर्जन डॉक्टर कैसे बने

Conclusion (निष्कर्ष) :– जीएनएम के बाद डॉक्टर कैसे बने? (GNM Ke Baad Doctor Kaise Bane)

इस पोस्ट के माध्यम से हम बताने का प्रयास किये हैं कि “GNM के बाद Doctor कैसे बनें? (GNM ke baad doctor kaise bane)” और gnm से संबंधित कई सारे सवालों का जबाब भी जाना ।

आज का यह लेख “जीएनएम के बाद डॉक्टर कैसे बने? (GNM Ke Baad Doctor Kaise Bane) ” कैसा लगा उम्मीद करता हूं कि आज का यह लेख (article) “जीएनएम के बाद डॉक्टर कैसे बने? (GNM Ke Baad Doctor Kaise Bane) ” आप लोगों को काफी ज्यादा पसंद आया होगा।

अगर पसंद आया है तो अपने दोस्तों को भी शेयर कर दे ताकि उन्हें भी यह जानकारी प्राप्त हो और वह भी मेडिकल के क्षेत्र में अपना कैरियर बनाना चाहे तो आसानी से बना सके।

दोस्तों अगर आप लोगों के मन में कोई भी सवाल या सुझाव हो तो कमेंट कर के पूछ सकते हैं उन सवालों का जवाब जल्दी से जल्दी देने का प्रयास करूंगा, धन्याद।

जरुर पढ़ें :-

2 thoughts on “GNM के बाद Doctor कैसे बनें? | GNM Ke Bad Doctor Kaise Bane”

  1. The article discusses the path to becoming a doctor after completing the GNM (General Nursing & Midwifery) course, which is typically a three-year program with a six-month internship. It provides information on how GNM graduates can pursue a career in Clinical Nursing and highlights the differences between GNM and B.Sc. Nursing courses.

    Reply

Leave a Comment