join Telegram channel Join Now
join WhatsApp channel Join Now

आईएएस की सैलरी कितनी होती है | IAS ki salary kitni hoti hai

आईएएस की सैलरी कितनी होती है (IAS ki salary kitni hoti hai) आज के इस लेख के माध्यम से हम जानने वाले हैं और साथ ही कई सारे छात्रों का सवाल आईएएस से संबंधित पूछा गया है जिसे भी आज हम इस लेख के माध्यम से जानेंगे।

बहुत सारे छात्र आईएएस की तैयारी करते हैं तथा कुछ छात्र आईएएस बनना भी चाहते हैं लेकिन उन सभी छात्रों के मन में कई तरह के सवाल आते हैं जिनका आंसर आज हम इस लेख में देने वाले हैं।

आईएएस की बात की जाए तो यह एक भारत की सबसे प्रतिष्ठित नौकरी होती है तथा इसको करने में युवा सब बहुत जोरों शोरों से तैयारी करते हैं और इसकी परीक्षा के बारे में भी बता दें कि इसकी परीक्षा बहुत ही कठिन मानी जाती है।

आईएएस की सैलरी कितनी होती है | आईएएस में कितने विषय होते हैं?
आईएएस की सैलरी कितनी होती है | आईएएस में कितने विषय होते हैं?

आईएएस के बारे में बात किया जाए तो आईएएस का फुल फॉर्म (Indian Administrative Service) होता है इसको हिंदी में भारतीय प्रशासनिक सेवा कहा जाता है।

आपको बता दें कि आईएएस बनने के लिए यूपीएससी में प्रत्येक वर्ष 1000000 से 1500000 उम्मीदवार आवेदन करते हैं जोकि बहुत ज्यादा होती है और इसमें कंपटीशन भी बहुत अधिक होती है।

ऐसे में अक्सर विद्यार्थियों का यह सवाल रहता है कि आईएएस की सैलरी कितनी होती है (IAS ki salary kitni hoti hai) जो आज हम इस लेख के माध्यम से जानने वाले हैं।

आप इसलिए को को पूरा अंत तक बढ़े ताकि आपको आईएएस से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी समझ में आ जाए और किसी भी चीज को समझने में दिक्कत ना हो।

आईएएस की सैलरी कितनी होती है | IAS ki salary kitni hoti hai

एक आईएएस ऑफिसर की सैलरी की बात की जाए तो उन्हें सातवें वेतन आयोग कमीशन के तहत ₹56,100 से ₹2,50,000 तक प्रति महीने वेतन दिए जाते हैं।

एक आईएएस ऑफिसर की शुरुआती सैलरी ₹56100 होती है लेकिन जैसे-जैसे उनका एक्सपीरियंस बढ़ता जाता है और वह काम में समय गुजारना लगते हैं तो उनकी सैलरी भी धीरे-धीरे बढ़ती रहती है।

जो आगे चलकर ₹250000 तक प्रति महीने पहुंच जाती है और एक आईएएस ऑफिसर की सैलरी बहुत अधिक हो जाती है।

एक आईएएस ऑफिसर को सैलरी के अलावा भी कई सारे सुविधाएं दिए जाते हैं और कई सारे अलावंस दिए जाते हैं।

मूल वेतन के अलावा उन्हें इंश्योरेंस, हाउस रेंट, मेडिकल, कन्वर्सेशन, बिजली बिल इत्यादि सुविधाएं दिए जाते हैं, इसके अलावा भी कई सारी सुविधाएं एक आईएएस ऑफिसर को दिए जाते हैं।

इसके अलावा एक आईएएस अधिकारी को बंगला, कुक, सुरक्षा गार्ड, गार्डनर, गाड़ी तथा अन्य घरेलू सहायता प्रदान किए जाते हैं।

अभी तक हमने जाना कि एक आईएएस ऑफिसर की सैलरी कितनी होती है और इसके साथ-साथ उन्हें किस प्रकार की सुविधाएं दिए जाते हैं।

लेकिन आपको पता था कि एक आईएएस ऑफिसर की ड्यूटी हमेशा जोखिम भरा होता है और वह हमेशा अपने कामों में व्यस्त रहते हैं तो चलिए अब हम जानते हैं कि एक आईएएस ऑफिसर के क्या क्या कार्य होते हैं।

एक आईएएस ऑफिसर अपने जिले का सबसे पावरफुल ऑफिसर होता है और उस जिले के अन्य विभाग का वह मालिक होता है।

अर्थात जिले के अन्य विभागों को कैसे चलाना है सिर्फ एक आईएएस ऑफिसर ही निर्णय लेते हैं और तय करते हैं कि क्या-क्या कार्य करना है और क्या-क्या कार्य नहीं करना है।

एक आईएएस ऑफिसर जिला अधिकारी के रूप में पुलिस विभाग के साथ साथ अन्य विभागों का भी मुखिया होता है डिस्ट्रिक्ट की पुलिस व्यवस्था की जिम्मेदारी भी एक आईएएस ऑफिसर के ऊपर ही रहती है।

यह भी पढ़ें :-भारत में कितने आईएएस है 

IAS क्या काम करता है?

जब आईएएस की ट्रेनिंग पूरी हो जाती है तो उन्हें कैडर में भेज दिया जाता है जहां उन्हें विशेष प्रकार का क्षेत्री या विभाग का प्रशासन सौंपा जाता है।

आईएएस ऑफिसर को क्षेत्रों के विकास के लिए प्रस्ताव बनाने तथा सरकारी नीतियों को लागू करने के साथ-साथ महत्वपूर्ण निर्णय लेने के लिए कार्यकारी शक्तियां भी दी जाती है।

जिसे एक आईएएस ऑफिसर कभी भी प्रयोग में ला सकता है और अपने निर्णय से कार्य को आगे बढ़ा सकता है और शहर को सही ढंग से सुचारू रूप से चलाने के लिए कई नए कदम उठा सकता हैं।

एक आईएएस ऑफिसर जिलाधिकारी के रूप में सबसे ज्यादा पावरफुल ऑफिसर होता है एक आईएएस ऑफिसर के पास जिले के सभी विभाग की जिम्मेदारी होती है।

जिले में जितने भी विभाग कार्यरत होते हैं सभी को सिर्फ एक आईएएस ऑफिसर ही हैंडल करते हैं और सभी की जिम्मेदारी एक आईएएस ऑफिसर के कंधे पर होती है।

एक आईएएस ऑफिसर जिला अधिकारी के रूप में पुलिस विभाग के साथ-साथ अन्य विभागों का भी मुखिया होता है डिस्ट्रिक्ट की पुलिस व्यवस्था की जिम्मेदारी भी एक आईएएस ऑफिसर के ऊपर ही रहती है।

यह भी पढ़ें :-12वीं के बाद डीएसपी कैसे बने

IAS के लिए कौन सी डिग्री चाहिए?

यदि आप एक आईएएस ऑफिसर बनना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको 12वीं पास करने के बाद ग्रेजुएशन पास करना होता है इसके साथ-साथ आपको आईएएस की तैयारी भी करनी होती है।

आपको बता दें कि आईएएस बनने के लिए यूपीएससी जैसे प्रतियोगी परीक्षा को पास करना होता है और यूपीएससी पास करने के लिए उसकी तैयारी करना बहुत जरूरी है।

क्योंकि यूपीएससी भारत की सबसे ज्यादा कंपटीशन वाला एग्जाम माना जाता है क्योंकि इसमें प्रत्येक वर्ष लगभग 1000000 से अधिक आवेदन किए जाते हैं जिसमें से बहुत कम लोगों का चयन हो पाता है।

यदि आप आईएएस ऑफिसर बनना चाहते हैं तो कम से कम आप की डिग्री ग्रेजुएट होने चाहिए अर्थात आप ग्रेजुएशन कंप्लीट करने के बाद ही आईएएस ऑफिसर बन सकते हैं।

आप चाहे तो ग्रेजुएशन के फाइनल ईयर की पढ़ाई करते हुए भी यूपीएससी की परीक्षा में शामिल हो सकते हैं लेकिन आईएएस बनने के लिए आपका वाह ग्रेजुएशन का फाइनल ईयर कंपलीट होना जरूरी है।

जब तक आपका यूपीएससी का परीक्षा क्लियर होता है तब तक आपका ग्रेजुएशन का फाइनल ईयर भी कंप्लीट हो जाएगा इसलिए यदि आप फाइनल ईयर में है तो अब यूपीएससी की परीक्षा में शामिल होने के लिए तैयार रहें।

यह भी पढ़ें :-12वीं के बाद आईपीएस कैसे बनें 

आईएएस बनने की उम्र क्या है?

आईएएस बनने के लिए उम्र की बात की जाए तो एक आईएएस ऑफिसर बनने के लिए अभ्यर्थी का उम्र 21 वर्ष से 32 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

यदि आप किसी अन्य वर्ग से बिलॉन्ग करते हैं तो 3 वर्ष की छूट आपको उम्र कितना दी जाती है अर्थात आप 35 वर्ष की उम्र तक आईएएस ऑफिसर बनने के लिए एलिजिबल होते हैं।

आपको बता दें कि यदि आप आईएएस ऑफिसर बनना चाहते हैं तो आप इसकी तैयारी लगन और मेहनत के साथ करें और एक बार में ही परीक्षा को क्लियर करके रिकॉर्ड बना दे।

क्योंकि एक बार मनोबल टूट जाने के बाद दोबारा फिर से जुटा पाना बहुत मुश्किल होता है और मिडिल क्लास फैमिली वालों के लिए बहुत ज्यादा मुश्किल होता है इसलिए आप एक ही बार में परीक्षा को क्लियर करने की क्षमता रखें।

यह भी पढ़ें :-IAS की तैयारी में कितना खर्च आता है?

आईएएस बनने के लिए 12वीं में कितनी परसेंटेज चाहिए?

आपको बता दें कि आईएएस ऑफिसर बनने के लिए 12वीं में किसी भी प्रकार की परसेंटेज का कोई उल्लेख नहीं किया गया है अर्थात सिर्फ आपका 12 वीं पास होना अनिवार्य है।

यदि आप 12वीं पास है तो अब आईएएस ऑफिसर बनने के लिए एलिजिबल रहते हैं इसमें मार्क्स का कोई उल्लेख नहीं है अर्थात 12वीं के मार्क्स से किसी भी अभ्यर्थी को रिजेक्ट नहीं किया जा सकता है।

लेकिन फिर भी आप 12वीं में अच्छे से पढ़ाई करें क्योंकि यूपीएससी का एग्जाम आपको क्लियर करना होता है उसके बाद ही आप आईएएस ऑफिसर बनते हैं और यू पी एस सी के एग्जाम क्लियर करने में नाइंथ क्लास से ग्रेजुएशन क्लास तक के सवाल पूछे जाते हैं।

यह भी पढ़ें :-पुलिस की सैलरी कितनी होती है?

आईएएस में कितने विषय होते हैं?

आपको बता दें कि आईएएस में कुल 9 पेपर होते हैं जिसका परीक्षा देना होता है जिसमें से सात अनिवार्य विषय होते हैं और दो वैकल्पिक विषय होते हैं।

समय की बात की जाए तो प्रत्येक विषय में 3 घंटे का समय दिया जाता है और इस परीक्षा में ⅓ नेगेटिव मार्किंग भी होती है।

आपको बता दें कि आईएएस की परीक्षा देने के लिए आपको काफी सारी किताबों को पढ़ना पड़ता है जिसमें से आप नाइंथ क्लास के बुक से लेकर ग्रेजुएशन लेवल के किताबों को पढ़ना पड़ता है।

आप जल्दी आईएएस की तैयारी कर रहे हैं तो आप नाइंथ क्लास के बुक से लेकर ट्वेल्थ क्लास के बुक को खरीद लें और उसकी तैयारी करना शुरू कर दें।

एक बात ध्यान रखना कि कोई भी बुक एनसीईआरटी का होना चाहिए क्योंकि एनसीईआरटी के बुक में काफी अच्छे से समझाया हुआ होता है तथा एग्जाम में प्रश्न भी एनसीआरटी के बुक से ही पूछे जाते हैं।

यह भी पढ़ें :-कर्नल की सैलरी कितनी होती है

आईएएस का इंटरव्यू कब होता है?

आईएएस का इंटरव्यू का बात किया जाए तो इंटरव्यू सबसे अंतिम चरण में होता है उसके पहले दो एग्जाम्स होते हैं जिसको पास करना अनिवार्य होता है।

सबसे पहले प्रारंभिक परीक्षा होती है उसके बाद मेंस एग्जाम होती है प्रारंभिक परीक्षा में पास होने के बाद आप मैंस एग्जाम में शामिल हो सकते हैं और यदि आप प्रारंभिक परीक्षा में फेल हो जाते हैं तो मेंस परीक्षा में शामिल नहीं हो सकते हैं।

ठीक उसी प्रकार मेंस परीक्षा को पास करने के बाद आप इंटरव्यू के लिए जा सकते हैं अर्थात इंटरव्यू में जाने के लिए सबसे पहले आपको प्रारंभिक परीक्षा पास करनी होती है उसके बाद मेंस परीक्षा पास करनी होती है।

इंटरव्यू परीक्षा का अंतिम चरण होता है जिसे पास करने के बाद आपको ट्रेनिंग के लिए भेज दिया जाता है और आपका ट्रेनिंग होने के बाद आपको किसी शहर में ड्यूटी करने के लिए किया जाता है।

यह भी पढ़ें :-कोबरा कमांडो कैसे बने

FAQ

Q. आईपीएस में कितने पेपर होते हैं?

Ans.- आईपीएस में कुल 9 पेपर होते हैं जिसमें सात अनिवार्य विषय और दो ऑप्शनल विषय होते हैं, इसकी परीक्षा तीन चरणों में होती है प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा एवं साक्षात्कार।

Q. यूपीएससी की तैयारी कैसे करें?

Ans.- यूपीएससी की तैयारी करने के लिए आप कोचिंग इंस्टिट्यूट ज्वाइन कर सकते हैं तथा यूट्यूब से भी आप क्लास कर सकते हैं और खुद भी प्रैक्टिस करके इसकी तैयारी कर सकते हैं। 

Q. आईएस में कितने सब्जेक्ट होते हैं?

Ans.- ऐसे तो आईएएस में लगभग 40 से 50 सब्जेक्ट होते हैं लेकिन उसमें से सिर्फ 9 सब्जेक्ट आपको एग्जाम में परीक्षा देना पड़ता है जिसमें 7 अनिवार्य विषय होते हैं और 2ऑप्शनल विषय होते हैं।

Q. आईएएस के लिए कौन सी किताबें पढ़नी चाहिए?

Ans.- आईएएस ऑफिसर बनने के लिए यूपीएससी का एग्जाम क्लियर करना होता है उसके लिए आपको कक्षा 9 से लेकर इंटरमीडिएट तक की एनसीईआरटी बुक को पढ़ना पड़ता है।

Q. आईएएस की सैलेरी कितनी होती है?

Ans.- एक आईएएस ऑफिसर की बेसिक सैलरी ₹56100 से शुरू होती है जो ₹250000 तक होती है, तथा एक आईएएस ऑफिसर को सैलरी के अलावा भी काफी सारी सुविधाएं दिए जाते हैं।

CONCLUSION :- 

आज के इस लेख के माध्यम से हमने जाना कि आईएएस की सैलरी कितनी होती है (IAS ki salary kitni hoti hai) और साथ ही लोगों द्वारा पूछे गए कुछ सवालों के जवाब भी जाना।

हमको उम्मीद है कि आज का यह लेख “आईएएस की सैलरी कितनी होती है (IAS ki salary kitni hoti hai)” आपको काफी अच्छा लगा होगा।

IAS से संबंधित सभी प्रकार के सवालों का जवाब आज हम इस लेख के माध्यम से समझ गए हैं तथा लोगों द्वारा पूछे गए सभी सवालों का जवाब भी आज हम जाने।

इसके अलावा भी आपके मन में किसी प्रकार का सवाल है तो आप कमेंट कर सकते हैं आपके सवालों का जवाब जल्द से जल्द दिया जायेगा।

यह भी पढ़ें :-

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *