एमबीबीएस का कोर्स कितने साल का होता है | mbbs kitne saal ka hota hai?

एमबीबीएस का कोर्स कितने साल का होता है (MBBS Kitne Saal Ka Hota Hai) आज के इस लेख के माध्यम से हम जानने वाले हैं और साथ ही एमबीबीएस से संबंधित कई सारे सवालों का जवाब भी आज हम जानेंगे।

आपको बता दें कि एमबीबीएस डॉक्टर की एक डिग्री होती है अर्थात एमबीबीएस करने के बाद आप एक डॉक्टर कहलाते हैं और आपके नाम के आगे डॉक्टर लग जाता है।

यदि आप एक डॉक्टर बनना चाहते हैं तो एमबीबीएस कोर्स का करना आपके लिए अनिवार्य होता है एमबीबीएस कोर्स को करने के बाद ही आप एक डॉक्टर बन सकते हैं।

एमबीबीएस का कोर्स कितने साल का होता है | mbbs kitne saal ka hota hai?
एमबीबीएस का कोर्स कितने साल का होता है | mbbs kitne saal ka hota hai?

बहुत सारे छात्र-छात्राएं डॉक्टर बनना चाहते हैं और बहुत सारे छात्र छात्राओं का यह सपना होता है कि वह आगे चलकर एक डॉक्टर बने।

ऐसे में कई सारे छात्र छात्राओं के मन में यह सवाल आता है कि एमबीबीएस का कोर्स कितने साल का होता है (MBBS Kitne Saal Ka Hota Hai) जो हम आज के लेख के माध्यम से जानने वाले हैं।

तो आप इस लेख को पूरा अंदर तक पढ़ा था कि आपको एमबीबीएस से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी समझ में आ जाए और आगे आपको किसी भी प्रकार का दिक्कत ना हो।

Table of Contents

एमबीबीएस का कोर्स कितने साल का होता है | mbbs kitne saal ka hota hai?

एमबीबीएस का कोर्स 5 वर्ष 6 महीने का होता है जिसमें 4 वर्ष 6 महीने की पढ़ाई होती है, और 1 वर्ष की इंटरशिप होती है, लेकिन कुछ कुछ कॉलेज में यह अवधि काम या ज्यादा हो सकती है।

एमबीबीएस कोर्स में कुल 9 सेमेस्टर होते हैं, जिसमें प्रत्येक सेमेस्टर की अवधि 6 महीने होती है, और पढ़ाई पूरी करने में 4 वर्ष 6 महीने का समय लग जाता है।

उसके बाद 1 महीने का इंटरशिप होता है और इंटरशिप पूरी होने के बाद आपका एमबीबीएस कोर्स पूरा हो जाता है, इसके बाद आप कहीं भी जॉब करने योग्य हो जाते हैं या अपना क्लिनिक भी खोल सकते हैं।

एमबीबीएस एक प्रकार का मेडिकल का कोर्स होता है इसके अंतर्गत मेडिकल साइंस से संबंधित कई सारे क्षेत्रों पर अध्ययन कराया जाता है और कई सारे क्षेत्रों के बारे में पढ़ाया जाता है।

जो भी छात्र डॉक्टर बनाना चाहते हैं वह एमबीबीएस कोर्स को जरूर करते हैं क्योंकि एमबीबीएस कोर्स को करने के बाद ही वह एक डॉक्टर बन सकते हैं।

जैसा कि हमने ऊपर बात किया कि एमबीबीएस का कोर्स पूरा होने में 5 वर्ष 6 महीने का समय लगता है जिसमें 4 वर्ष 6 महीने में कोर्स को पूरा किया जाता है और 1 साल का इंटरशिप होता है।

एमबीबीएस कोर्स को करने के लिए छात्रों को 12वीं कक्षा पास करना अनिवार्य होता है तथा 12वीं कक्षा में फिजिक्स केमिस्ट्री और बायोलॉजी सब्जेक्ट लेना भी अनिवार्य होता है।

यदि छात्र फिजिक्स केमिस्ट्री और बायोलॉजी सब्जेक्ट से 12वीं में पढ़ाई नहीं करते हैं तो वह एमबीबीएस कोर्स को नहीं कर सकते हैं क्योंकि एमबीबीएस कोर्स करो करने के लिए यह अनिवार्य माना जाता है।

आपको बता दें कि यदि कोई विद्यार्थी बिना इंटरशिप किए एमबीबीएस कोर्स को करना चाहते हैं तो वह नहीं कर सकते हैं क्योंकि एमबीबीएस को पूरी करने के लिए इंटरशिप का होना बहुत जरूरी है।

एमबीबीएस करने वाले छात्र को इंटरशिप करना अनिवार्य होता है उसके बाद ही एमबीबीएस की डिग्री पूरी मानी जाती है।

एमबीबीएस की पढ़ाई पूरी करने के बाद जब छात्र का इंटरव्यू 1 साल का पूरा हो जाता है तो उन्हें एमबीबीएस की डिग्री दी जाती है और उसके बाद वह एक डॉक्टर बन जाते हैं।

जरुर पढ़ें :-नीट की फीस कितनी है

एमबीबीएस की 1 साल की फीस कितनी होती है?

एमबीबीएस की 1 साल की फीस आम कोर्सों की तुलना में बहुत अधिक होती है और यह फिश सालाना लगभग ₹1,50,000 से लेकर ₹20,00,000 तक होती है।

एमबीबीएस की फीस सभी कॉलेजों में अलग-अलग होती है अर्थात कुछ कॉलेजों में एमबीबीएस की फीस कम होती है तो कुछ कॉलेजों में बहुत अधिक होती है।

एमबीबीएस की फीस सरकारी कॉलेजों में बहुत कम होती है अर्थात यदि हम प्राइवेट कॉलेजों से तुलना करें तो सरकारी कॉलेजों की फीस बहुत कम होती है।

सरकारी कॉलेजों में एमबीबीएस की फीस सालाना लगभग ₹50,000 से लेकर ₹2,00,000 तक हो सकती है या कुछ कुछ कॉलेजों में ₹2,00,000 से भी अधिक होती है।

लेकिन यदि हम प्राइवेट कॉलेजों की बात करें तो एमबीबीएस की फीस प्राइवेट कॉलेजों में बहुत अधिक होती है जो ₹2,00,000 से लेकर लगभग ₹20,00,000 से भी अधिक हो सकती है।

कुछ-कुछ प्राइवेट कॉलेजों में ₹2,00,000 से भी कम फीस होती है लेकिन आमतौर पर यदि बात करें तो सभी प्राइवेट कॉलेजों की फीस ₹2,00,000 से अधिक होती है।

यदि आप एमबीबीएस कोर्स को करना चाहते हैं तो आप अपने नजदीकी एमबीबीएस कॉलेज में पता कर सकते हैं वहां से आपको सटीक जानकारी मिल जाएगी कि एमबीबीएस की फीस कितनी है।

जरुर पढ़ें :-इंडियन आर्मी में डॉक्टर कैसे बने?

MBBS बनने में कितना साल लगता है?

एमबीबीएस कोर्स को पूरा करने में लगभग 5 वर्ष का समय लगता है आपको बता दें कि बहुत सारे कॉलेजों में एमबीबीएस कोर्स को 5 साल से भी कम समय में पूरा किया जा सकता है।

यदि आप 12वीं कक्षा में पढ़ रहे हैं तो एमबीबीएस कोर्स को पूरा करने में लगभग 5 वर्ष का समय लग जाता है लेकिन यदि आप स्नातक की पढ़ाई कर रहे हैं और एमबीबीएस कोर्स को करना चाहते हैं तो यह लगभग 3 वर्ष में आपका पूरा हो जाता है।

आमतौर पर एमबीबीएस कोर्स 5 साल का होता है अर्थात अनुपातिक तौर पर देखा जाए तो सभी कॉलेजों में एमबीबीएस को लगभग 5 वर्ष में पूरा करा दिया जाता है।

लेकिन कुछ कुछ कॉलेजों में एमबीबीएस कोर्स को लगभग 3 वर्ष 6 महीने के अंतराल में पूरे करा दिए जाते हैं वही कुछ-कुछ कॉलेजों में 4 वर्ष से महीने का भी समय लग जाता है।

बहुत सारे कॉलेजों में एमबीबीएस कोर्स की अवधि अलग-अलग भी होती है अर्थात कॉलेजों में एमबीबीएस कोर्स की अवधि अपने अनुसार से निर्धारित की हुई होती है।

जिन कॉलेजों में जो अवधि है आपको उन्हें अवधि के दौरान अपनी एमबीबीएस कोर्स को पूरी करनी होती है लेकिन सरकारी कॉलेजों में यदि आप एमबीबीएस कोर्स को करते हैं तो लगभग 5 वर्ष में पूरा हो जाता है।

यदि आप सरकारी कॉलेज से एमबीबीएस कोर्स को करते हैं तो आपको बहुत कम फीस देना होता है लेकिन यदि आप एमबीबीएस कोर्स को प्राइवेट कॉलेज से करते हैं तो आपको बहुत ज्यादा फ़ीस देना पड़ता है।

जरुर पढ़ें :जीएनएम के बाद डॉक्टर कैसे बने?

एमबीबीएस कितने साल का होता है | mbbs kitne saal ka hota hai?

एमबीबीएस कोर्स 5 साल 6 महीने का होता है जिसमें 4 साल 6 महीने तक पढ़ाई होती है और 1 साल का इंटरशिप होता है।

कोई भी छात्र एमबीबीएस कोर्स को करना चाहते हैं तो उन्हें 4 साल 6 महीने पढ़ाई के बाद 1 साल का इंटरशिप करना अनिवार्य माना जाता है।

यदि कोई छात्र बिना इंटरशिप किए एमबीबीएस की पढ़ाई छोड़ देते हैं तो उनकी डिग्री अधूरी मानी जाती है क्योंकि इंटरशिप का होना बहुत जरूरी होता है।

4 साल 6 महीने की पढ़ाई करने के बाद 1 साल इंटरशिप होती है और इंटरशिप की पढ़ाई पूरी होने के बाद उन्हें एमबीबीएस की डिग्री दी जाती है उसके बाद वह डॉक्टर बन सकते हैं।

एमबीबीएस एक प्रकार का मेडिकल का कोर्स होता है इसके अंतर्गत मेडिकल साइंस से संबंधित क्षेत्रों के बारे में पढ़ाया जाता है।

कोई भी छात्र एमबीबीएस का कोर्स करना चाहते हैं तो उन्हें 12वीं पास करना अनिवार्य माना जाता है और 12वीं कक्षा में फिजिक्स केमिस्ट्री और बायोलॉजी सब्जेक्ट लेना अनिवार्य माना जाता है।

यदि कोई छात्र फिजिक्स केमिस्ट्री और बायोलॉजी सब्जेक्ट से पढ़ाई नहीं किए हुए हैं तो वह एमबीबीएस कोर्स को करने से वंचित रह जाते हैं।

इसलिए यदि आप एमबीबीएस कोर्स को करना चाहते हैं और एक डॉक्टर बनाना चाहते हैं तो आप फिजिक्स केमिस्ट्री और बायोलॉजी सब्जेक्ट से अपनी 12वीं की परीक्षा दें।

आज के इस लेख के माध्यम से हमने जाना कि एमबीबीएस का कोर्स कितने साल का होता है (MBBS Kitne Saal Ka Hota Hai)  और एमबीबीएस से संबंधित कई सारे सवालों का जवाब भी आज हमने जाना।

जरुर पढ़ें :स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर कैसे बनें

भारत में एमबीबीएस के छात्र कितना कमाते हैं?

भारत में एमबीबीएस के छात्र यदि डॉक्टर बन के सरकारी नौकरी करते हैं तो लगभग ₹50000 से लेकर ₹500000 तक कमा सकते हैं और एक्सपीरियंस बढ़ने के बाद इन से भी ज्यादा पैसे कमा सकते हैं।

वहीं यदि एमबीबीएस छात्र किसी प्राइवेट हॉस्पिटल में जॉब करते हैं तो उन्हें ₹50000 से लेकर ₹300000 तक मासिक वेतन मिल सकता है जो एक्सपीरियंस के साथ-साथ बढ़ते रहता है।

लेकिन यदि एमबीबीएस के छात्र एमबीबीएस कोर्स को पूरा करने के बाद खुद का एक अकेले नहीं खोलते हैं तो यह इन सभी से बहुत अधिक पैसे कमा सकते हैं।

आपको बता दें कि बहुत सारे डॉक्टर एमबीबीएस कोर्स को पूरा करने के बाद खुद का अपना क्लीनिक खोलते हैं और इलाज शुरू करते हैं।

शुरुआती दौर में पैसे कम कमाई होती है लेकिन कुछ दिन कार्य करने के बाद बहुत अधिक पैसे आप कमा सकते हैं अपना एक क्लीनिक या हॉस्पिटल खोलकर।

इसलिए यदि आप एमबीबीएस कोर्स को कर चुके हैं या फिर करने वाले हैं तो एमबीबीएस कोर्स को पूरा करने के बाद आप अपना खुद का एक क्लीनिक खोल लें।

यदि क्लीनिक खोलने का पैसा आपके पास नहीं है तो आप प्राइवेट या सरकारी जॉब भी कर सकते हैं क्योंकि एमबीबीएस करने के बाद आपको आसानी से किसी भी अस्पताल में नौकरी मिल जाएगी।

कुछ दिन तक जॉब करने के बाद आपका एक्सपीरियंस भी बढ़ जाएगा और आपके पास पैसे भी आ जाएंगे जिससे आप आसानी से अपना अस्पताल खोल सकते हैं।

आपको बता दें कि अपना अस्पताल खोलने के बाद आप महीने के लगभग ₹1000000 से लेकर ₹5000000 तक भी कमा सकते हैं यह आप पर निर्भर करता है कि आप किस तरह के इलाज करते हैं।

जरुर पढ़ें :सर्जन डॉक्टर कैसे बने

MBBS के लिए कौन सा देश सबसे अच्छा है?

एमबीबीएस कोर्स को आप किसी भी देश से कर सकते हैं आपको बता दें कि सभी देशों में एमबीबीएस कोर्स लगभग सेम कराया जाता है।

लेकिन कुछ कुछ देशों में एमबीबीएस कोर्स को करने के लिए बहुत सारे यंत्र होते हैं जिससे हम आसानी से एमबीबीएस कोर्स को कर सकते हैं।

किसी किसी देशों में एमबीबीएस कोर्स को करने में आसानी होती है अर्थात वहां हमें बहुत कुछ देखने को और सीखने को मिलता है और बहुत सारी मशीनों के बारे में अभी जानकारी मिलती है।

ऐसे में सबसे अच्छे एमबीबीएस की शिक्षा के बारे में बात करें तो रसिया सबसे बेहतरीन देश माना जाता है एमबीबीएस कोर्स को कराने के मामले में।

क्योंकि राशियां में 57 मेडिकल यूनिवर्सिटी है और वहां एमबीबीएस की बहुत ज्यादा डिमांड रहती है अर्थात बहुत सारे देश-विदेश से लोग रसिया जाते हैं एमबीबीएस कोर्स को करने के लिए।

आपको बता दें कि वहां पर शिक्षा मंत्रालय द्वारा कम से कम फीस तय की गई है जो विश्व स्तर पर छात्र और उसमें जाकर एमबीबीएस कोर्स को आसानी से कर सकते हैं।

यदि आप एमबीबीएस कोर्स को करना चाहते हैं तो आप रसिया से एमबीबीएस कोर्स को कर सकते हैं क्योंकि वहां फीस भी कम होती है और बेहतरीन शिक्षा भी मिलती है।

लेकिन यदि आप रसिया जाने से कंफर्टेबल नहीं है तो आप भारत से भी एमबीबीएस कोर्स को कर सकते हैं क्योंकि भारत में भी एमबीबीएस कोर्स काफी अच्छे से कराया जाता है।

भारत में भी बहुत सारे एमबीबीएस के कॉलेज हैं जहां पर अच्छे खासे कोर्स कराए जाते हैं लेकिन फ़ीस कुछ-कुछ कॉलेज में बहुत अधिक होती है।

आज के इस लेख के माध्यम से हमने जाना कि एमबीबीएस का कोर्स कितने साल का होता है (MBBS Kitne Saal Ka Hota Hai)  और एमबीबीएस से संबंधित कई सारे सवालों का जवाब भी आज हमने जाना।

यह भी पढ़ें :-Gnm की सैलरी कितनी होती है

MBBS कितनी बार दे सकते हैं?

आपको बता दें कि एमबीबीएस करने के लिए आपको नीट की परीक्षा देनी होती है अर्थात नीट की परीक्षा देने के बाद ही आप एमबीबीएस कोर्स को कर पाते हैं।

नीत की परीक्षा के प्रयासों की संख्या पर कोई प्रतिबंध नहीं है अर्थात आप जितनी बार चाहे नीट की परीक्षा में शामिल हो सकते हैं।

यदि आप एमबीबीएस कोर्स को करना चाहते हैं और आपको यह डर है कि यदि आप एक दो बार फेल हो जाते हैं तो आगे एमबीबीएस कोर्स को कर सकते हैं कि नहीं।

तो आपको बता दें कि आप आसानी से एमबीबीएस कोर्स को कर सकते हैं क्योंकि एमबीबीएस कोर्स को करने के लिए नीट का परीक्षा लिया जाता है और नीट का परीक्षा में आप जितना मर्जी उतना बार शामिल हो सकते हैं।

लेकिन आपको बता दें कि यदि आप एमबीबीएस करना चाहते हैं और एक डॉक्टर बनना चाहते हैं तो आप एक बार में ही परीक्षा क्वालिफाई कर जाएं क्योंकि मनोबल गिर जाने के बाद दोबारा पढ़ाई करने का मन नहीं करता है।

नेट में भले ही प्रयासों की संख्या एक से अधिक बार दी गई हो लेकिन आप एक बार में ही क्वालीफाई कर जाते हैं तो आप का भी हौसला बना रहता है और आगे आप आसानी से डॉ की डिग्री प्राप्त करके डॉक्टर बन सकते हैं।

और यदि आप फेल हो जाते हैं तो आप का मनोबल गिर जाता है और आपको आगे पढ़ाई करने का भी मन नहीं करता है जिससे आगे आपको डॉक्टर बनाने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

जरुर पढ़ें :BIO में कौन कौन सी जॉब होती है

एमबीबीएस की सरकारी फीस क्या है?

एमबीबीएस के लिए सरकारी कॉलेजों की फीस की बात की जाए तो यह सालाना लगभग ₹50000 से लेकर ₹200000 तक हो सकती है।

आपको बता दें कि सभी सरकारी कॉलेजों में भी एमबीबीएस की फीस अलग-अलग होती है अर्थात अलग-अलग राज्यों की फीस अलग-अलग होती है।

कुछ-कुछ कॉलेजों में एमबीबीएस की फीस ₹50000 से लेकर ₹100000 के बीच ही होती है अर्थात आप सालाना ₹50000 से लेकर ₹100000 के बीच में ही एमबीबीएस कोर्स को कर सकते हैं।

लेकिन कुछ कुछ कॉलेजों में एमबीबीएस की फीस बहुत अधिक होती है जैसे ₹100000 से लेकर ₹200000 तक सालाना फीस आपका हो सकता है जो कि सरकारी कॉलेज की फीस है।

वहीं यदि हम एमबीबीएस की फीस प्राइवेट कॉलेजों में बात करें तो सरकारी कॉलेजों की तुलना में बहुत अधिक फीस प्राइवेट कॉलेजों में ली जाती है।

एमबीबीएस की फीस प्राइवेट कॉलेजों में लगभग ₹200000 से लेकर ₹2000000 तक सालाना खर्च हो सकती है जो अलग-अलग कॉलेजों में अलग-अलग होती है।

कुछ कौन है जो मैं तो ₹200000 से लेकर ₹500000 सालाना खर्च में एमबीबीएस कोर्स को करा देते हैं लेकिन कुछ कुछ कॉलेजों में ₹500000 से लेकर 10 लाख या 15 लाख तक खर्च हो जाते हैं।

यदि आप एमबीबीएस कोर्स को करना चाहते हैं और डॉक्टर बनाना चाहते हैं तो आपको बता दें कि आप सरकारी कॉलेज से ही एमबीबीएस कोर्स को पूरा करें क्योंकि एमबीबीएस कोर्स को सरकारी कॉलेजों में बहुत कम फीस लिया जाता है।

आज के इस लेख के माध्यम से हमने जाना कि एमबीबीएस का कोर्स कितने साल का होता है (MBBS Kitne Saal Ka Hota Hai)  और एमबीबीएस से संबंधित कई सारे सवालों का जवाब भी आज हमने जाना।

CONCLUSION :- एमबीबीएस का कोर्स कितने साल का होता है (MBBS Kitne Saal Ka Hota Hai)

आज के इस लेख के माध्यम से हमने जाना कि एमबीबीएस का कोर्स कितने साल का होता है (MBBS Kitne Saal Ka Hota Hai)  और एमबीबीएस से संबंधित कई सारे सवालों का जवाब भी आज हमने जाना।

आज का यह लेख “एमबीबीएस का कोर्स कितने साल का होता है (MBBS Kitne Saal Ka Hota Hai)”   जिसमें हमने एमबीबीएस से संबंधित कई सारे सवालों का जवाब देने का प्रयास किया है आपको कैसा लगा जरूर बताएं।

इसके अलावा भी यदि आपके मन में किसी भी प्रकार का सवाल या सुझाव है तो आप कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं जल्द से जल्द आपके सवालों का जवाब देने का कोशिश करूंगा।

धन्यवाद।

जरुर पढ़ें :-प्राइवेट डॉक्टर कैसे बने
जरुर पढ़ें :-नीट की फीस कितनी है
जरुर पढ़ें :-इंडियन आर्मी में डॉक्टर कैसे बने?
जरुर पढ़ें :BIO में कौन कौन सी जॉब होती है

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *