पीएचडी कितने साल की होती है

पीएचडी कितने साल की होती है | PhD Kitne Saal Ki Hoti Hai

आज के इस लेख के माध्यम से हम जाने वाले हैं कि “पीएचडी कितने साल की होती है | PhD Kitne Saal Ki Hoti Hai” तथा पीएचडी करने की न्यूनतम और अधिकतम समय कितना लगता है।

पीएचडी से संबंधित सभी प्रकार के सवालों का जवाब आज हम जानने वाले हैं जैसे :- पीएचडी क्या है? तथा कौन-कौन पीएचडी कर सकता है? और पीएचडी करने में कितने पैसे खर्च होते हैं?

पीएचडी (PhD) का अर्थ डॉक्टर ऑफ़ फिलॉसफी (Doctor of Philosophy) है, जिसे संक्षिप्त में पीएचडी कहा जाता है, इस कोर्स को करने के बाद आप के नाम के आगे डॉ (Dr.) शब्द सम्मिलित हो जाता है। यह एक डाक्टरल डिग्री (Doctoral Degree) है। 

पीएचडी विश्वविद्यालयों द्वारा प्रदत उच्च शैक्षिक डिग्री होती है पीएचडी का फुल फॉर्म डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी  (Doctor of Philosophy) होता है। 

पीएचडी एक स्नातकोत्तर (Postgraduate) डॉक्टरेट (Doctoral) की डिग्री है, जो उन छात्रों को प्रदान की जाती है जो अपने विषय में ज्ञान के लिए एक महत्वपूर्ण योगदान देने वाले एक प्रमुख शोध को पूरा करने की पुर्णतः कोशिश करते है। 

पीएचडी करने के लिए आपके पास मास्टर डिग्री होनी चाहिए दुसरे शब्दों में कहे तो आपकी Post Graduation पूरी होनी चाहिए।  Post Graduation डिग्री में आपके मार्क्स 60% के आस पास होने चाहिए। तभी आप पीएचडी करने के योग्य होते हैं। 

शिक्षा के क्षेत्र में महानता हासिल करना अपने आप में एक अनोखा काबिलियत है, PhD एक ऐसा माध्यम है जिसके द्वारा शिक्षण शैली में महानता प्राप्त करने का अवसर मिलता है, आप पीएचडी करके शिक्षण शैली में महंत प्राप्त कर सकते हैं। 

इस डिग्री को प्राप्त करने के कई अवसर मिलते हैं,  कभी-कभी महान उद्देश्य को पूरा करने के बाद इस डिग्री से उम्मीदवार को नवाजा जाता है और कोर्स के माध्यम से भी किसी विशेष क्षेत्र में PhD की डिग्री प्राप्त किया जा सकता है। 

पीएचडी कितने साल की होती है | PhD Kitne Saal Ki Hoti Hai | PhD Course Ki Fees Kitni Hoti Hai | PhD ki Taiyari Kaise Kare | PhD Kaise Karen | PhD Ke Liye Yogyata | PhD Ke Baad Career Option | 
पीएचडी कितने साल की होती है | PhD Kitne Saal Ki Hoti Hai

यह एक सर्वोच्च डिग्री होने के साथ-साथ किसी विषय में विशेषज्ञ होने का अवसर प्रदान करता है, लेकिन इस डिग्री को प्राप्त करने के लिए कुछ नियम एवं शर्तें होते हैं, जो उम्मीदवार इस नियम को पूरा करते हैं उन्हें ही यह डिग्री के योग्य माने जाते हैं।

कैरियर के दृष्टिकोण से देखा जाए तो पीएचडी सबसे महत्वपूर्ण कोर्स में से एक माना जाता है, क्योंकि इस उपाधि से सम्मानित उम्मीदवार किसी विशेष विषय विशेषज्ञ हासिल किए हुए होते हैं, इसलिए किसी विशेष बिंदुओं पर विस्तार से चर्चा करना उनकी प्राथमिकता होती है।

यदि आपको किसी महाविद्यालय या विश्वविद्यालय में एक प्रोफेसर बनना है, तो आपके पास यह डिग्री होना अनिवार्य है, इस डिग्री के बगेर आप प्रोफेसर नहीं बन सकते हैं। 

आप इस डिग्री के बाद रिसर्च या फिर एनालिसिस भी कर सकते है, इस डिग्री करने के उपरांत आप उस विषय के एक्सपर्ट कहलायेंगे आपको उस विषय के बारे में पूरा ज्ञान हो जायेगा। 

अक्सर लोगों के मन में यह सवाल रहता है कि “पीएचडी कितने साल की होती है | PhD Kitne Saal Ki Hoti Hai” क्योंकि पीएचडी करने की सटीक जानकारी उनको नहीं मिल पाती है।

आज के इस लेख के माध्यम से हम टीचर बनने की प्रक्रिया को स्टेप बाय स्टेप बताने का प्रयास किए हैं, आप इस लेख को पूरा पढ़े ताकि आपको बारीकी से जानकारी मिल पाए।

पीएचडी कितने साल की होती है | PhD Kitne Saal Ki Hoti Hai

पीएचडी कोर्स की अवधि का बात किया जाए तो आमतौर पर पीएचडी कोर्स 3 साल की होती है, जिसमे छः सेमेस्टर होते हैं, जिसमे उम्मीदवारों को अधिकतम छः साल के अंतराल में कोर्स पूरा करना होता है, अर्थात विद्यार्थी छः साल तक इस को पूरा कर सकता है।

पीएचडी कोर्स की अवधि हर जगह अलग-अलग हो सकती है जो पूरी तरह से इंस्टिट्यूट और सिलेबस पर निर्भर करता है।

पीएचडी करते समय यह सुविधा भी दी जाती है कि हम अपने इस 3 साल के कोर्स को 6 साल तक भी खत्म कर सकते हैं। इस कोर्स को करने में हमें हर टॉपिक के विषय में डिटेल में रिसर्च करने को मिलता है, जिससे हमारा जड़ बहुत ही मजबूत हो जाता है और बड़ी ही आसानी से किसी भी टॉपिक को सॉल्व करने के लिए सक्षम हो जाते हैं।

PhD Course Highlights

PhD Full FormDoctor of Philosophy
PhD Duration4-6 वर्ष
PhD Degree Requirementscourseworkpresentationsubmission of progress reportsdefense of thesis
PhD AdmissionDirect Admission Orentrance exams
PhD CoursesPhD in PhysicsPhD computer sciencePhd in PsychologyPhD in HistoryPhD in Business AdministrationPhD in engineeringPhd in EconomicsPhD in Nursing 
Online PhD ProgramIGNOUIISc BangaloreDr. BR Ambedkar Open University HyderabadMadhya Pradesh Bhoj Open University
Fully Funded PhD ProgramsStudents need to clear UGC NET exam to get funded by the government
PhD in IndiaIITs, IISc, Jadavpur University, Delhi University, JNU

जरुर पढ़ें :-गणित में कौन कौन सी जॉब होती है?

PhD कोर्स की फ़ीस कितनी होती है ( PhD Course Ki Fees Kitni Hoti Hai)

पीएचडी कोर्स की फीस की बात की जाए तो इसकी फीस इंस्टिट्यूट एवं संस्थान के आधार पर अलग अलग होती है,  सरकारी संस्थान की फ़ीस प्राइवेट इंस्टिट्यूट की तुलना में कम होता है। 

पीएचडी कोर्स मुख्यतः 3 वर्ष का कोर्स होता है जो  6 सेमेस्टर में बटा होता है।  कॉलेज, इंस्टीट्यूट इस कोर्स की फीस समेस्टर या  वार्षिक अवधी का अनुशार मांग करते हैं। 

प्राइवेट इंस्टिट्यूट में पीएचडी कोर्स की  न्यूनतम फ़ीस 20000 रुपये  से 30000 रुपये के करीब तथा अधिकतम फ़ीस 30000 रुपये से 50000 रुपये के बीच होता है। 

जबकी सरकारी संस्थान में न्यूनतम फ़ीस 15000 रुपये से 25000 रुपये के बीच तथा अधिकतम फ़ीस 40000 रुपये से 60000 रुपये तक होता है। 

जरुर पढ़ें :-12 वीं के बाद कंप्यूटर कोर्स सूची

पीएचडी की तैयारी कैसे करें (PhD ki Taiyari Kaise Kare)

आपको Phd की तैयारी करने के लिए कुछ विशेष बातों को ध्यान में रखना होगा। इससे आपको पीएचडी करने में काफी मदद मिलेगी, और पीएचडी को आप आसानी से कर सकेंगे।

  • पीएचडी की तैयारी करने के लिए सबसे पहले प्रीवियस ईयर पेपर खरीदें आप उन पेपरों के जरिए यह जान सकते हैं, कि पीएचडी में किस प्रकार के प्रश्न पूछे जाते हैं।
  • आप उनकी सहायता ले सकते हैं, जिन्होंने पहले से पीएचडी कर चुके हैं या जो पीएचडी कर रहे हैं, उनसे आपको बहुत कुछ सीखने को मिल सकता है।
  • अपने पीएचडी के विषय के बारे में हमेशा जानने की इच्छा रखें और उस विषय से संबंधित सभी प्रकार के पहलुओं को बारीकी से जाने और उन पर हमेशा रिसर्च करते रहें।
  • आप अपने विषय के अनुसार अपना तैयारी को बढ़ा सकते हैं आपका विषय यदि करंट अफेयर्स है तो आप अखबार पढ़ सकते हैं और करंट नॉलेज को बढ़ा सकते हैं।

जरुर पढ़ें :-जीएसटी में करियर कैसे बनाएं 

पीएचडी कैसे करें (PhD Kaise Karen)

किसी भी तरह की डिग्री करने के लिए आपको 12th पास होना जरूरी होता है। इसके लिए आपको 10th पास करने के बाद वही सब्जेक्ट को चुनना चाहिए, जिस सब्जेक्ट्स में आप पीएचडी करना चाहते है। 

आपको नीचे स्टेप बाई स्टेप बताने का प्रयास किए हैं कि पीएचडी कैसे करें आप पूरा पढे ताकि क्लेयर समझ पाए जो कि निम्नलिखित है। :-  

  • आपको अपने इन सब्जेक्टस में 11th और 12th में अच्छे अंकों के साथ पास होना है। आपके जितने मार्क्स ज्यादा होंगे उतनी ही आपको आगे पीएचडी करने में आसानी होगी और मदद मिलेगी।
  • जब आप अपनी 12th पूरी कर लेते हैं। फिर आपको जिस सब्जेक्ट में रूची हो उस सब्जेक्ट के लिए प्रवेश परीक्षा दें और इस एंट्रेंस एग्जाम को पूरा करें। फिर इसके बाद अपनी स्नातक की पढ़ाई पूरी करें। 
  • आपको जिनता हो सके अच्छे अंकों के साथ पास होना है। जिनते अंक ज्यादा होंगे आपके लिए पीएचडी के लिए रास्ते उतने ही आसान बनते रहेंगे, क्युकी मेरिट लिस्ट मार्क्स के आधार पर ही निकाल जाता है।
  • जब आपकी स्नातक पूरी हो जाती है तब फिर आपको पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए अप्लाई करना है। आपने जिस सब्जेक्ट में स्नातक की है, यदि आप उस सब्जेक्ट में ही अपनी मास्टर डिग्री करते हैं तो आपके लिए आसानी रहेगी।
  • आपको अपनी स्नातक और मास्टर डिग्री में कम से कम 60% तक अंक लाने है ताकि आगे एंट्रेंस एग्जाम के लिए कोई समस्या न हो और एन्ट्रन्स इग्ज़ैम के लिए एलीजिबल हो पाए।
  • पोस्ट ग्रेजुएशन पूरी हो जाती है तो आपको अब UGC Net Test देना होता है और आपको इसे क्लियर करना बहुत ही जरूरी होता है। इस एग्जाम के लिए आप कोचिंग भी ले सकते हैं। 
  • ये प्रवेश परीक्षा थोड़ी कठिन होती है। UGC Net Exam पहले नहीं होता था। लेकिन अब पीएचडी करने के लिए इसे क्लियर करना अनिवार्य कर दिया गया है।
  • आप इस एग्जाम को क्लियर कर देते हैं तो आप पीएचडी के योग्य हो जाते हैं। अब आपको जिस कॉलेज या विश्वविद्यालय में पीएचडी करनी है, उस विश्वविद्यालय का एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करके आप पीएचडी में दाखिला ले सकते हैं।

जरुर पढ़ें :- 12वीं के बाद शिक्षक (Teacher) कैसे बने?

पीएचडी कोर्स करने के लिए भारत की टॉप यूनिवर्सिटी

यदि आपने अपने अच्छे मार्क्स के साथ ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन कम्पलीट कर चुके है और एक अच्छी यूनिवर्सिटी से पीएचडी कोर्स करना चाहते है तो आपके लिये नीचे दी गयी यूनिवर्सिटी सबसे बेस्ट है, आप नीचे दिए कॉलेज/यूनिवर्सिटी में पीएचडी के लिए अप्लाई कर सकते है, जो कि निम्नलिखित है। :-

  • इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी बैंगलोर
  • जवाहर लाल यूनिवर्सिटी
  • अमिती यूनिवर्सिटी नोएडा
  • के.सी.जी. कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी चेन्नई

ऊपर दिए गए चार भारत की टॉप यूनिवर्सिटी में से हैं इस यूनिवर्सिटी में आप पीएचडी कर सकते हैं यूनिवर्सिटीओं में बहुत सारी सुविधाएं मिलती है जिससे आपको पीएचडी करने में आसानी होती है।

आप जल्दी पीएचडी करने का सोच रहे हैं तो आपको पीएचडी सरकारी कॉलेज या यूनिवर्सिटी से करना चाहिए क्योंकि उसमें कोर्स फी बहुत कम होती है और आसानी से अब कर सकते हैं।

जरुर पढ़ें :-साइंस में कौन-कौन सी जॉब होती है? 

पीएचडी के लिए योग्यता (PhD Ke Liye Yogyata)

पीएचडी के जो सब योग्यता चाहिए वो निम्नलिखित है:- 

  • सबसे पहले पोस्ट ग्रेजुएशन पास करें।
  • पोस्ट ग्रेजुएशन में 55% नंबर या इससे अधिक होने चाहिए।
  • आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों को 5% की छूट मिलती है।
  • हर यूनिवर्सिटी के लिए मिनिमम परसेंट में थोड़ा-बहुत अंतर हो सकता है।
  • पीएचडी की कोई एज लिमिट नहीं है, कभी भी आप पीएचडी कर सकते है।
  • आप अपने मास्टर के सब्जेक्ट में ही पीएचडी कर सकते हैं।

इनके अलावा भी कुछ क्वालिटीज होना जरूरी है जैसे कि :- आपकी पढ़ाई में रुचि होनी चाहिए। पीएचडी कोई साधारण एग्जाम नहीं है जिसमें आप किसी कुंजी (guide) से उत्तर रटकर पासिंग मार्क्स ले आएंगे। इसके लिए बहुत ज्यादा पढ़ना होता है।

अगर आपका मन किताबों में नहीं लगता तो यह फील्ड आपके लिए नहीं है। इसके साथ-साथ धैर्य होना जरूरी है। पीएचडी में आपको कम से कम तीन साल लगते हैं। इसीलिए ये सोचकर ही कदम बढ़ाएं कि आप इतना समय दे सकते हैं।

पीएचडी करना एक जिम्मेदारी का कोर्स होता है अर्थात इसमें आपको रिसर्च से संबंधित सभी प्रकार का ज्ञान दिया जाता है और साथ ही किसी नए तथ्यों की खोज करने का भी ज्ञान दिया जाता है।

यही कारण है कि इस कोर्स को करने में 3 साल का समय रहता है लेकिन अधिक से अधिक 6 साल तक भी लग सकता है और 6 साल तक भी आप इस कोर्स को कर सकते हैं।

जरुर पढ़ें :-कॉमर्स में कौन-कौन सी जॉब होती है?

पीएचडी के बाद करियर ऑप्शन (PhD Ke Baad Career Option)

दोस्तों पीएचडी जितनी मेहनत का काम है, इसका फल भी इतना ही मीठा होता है। भले ही आप PhD करके एक लंबा समय बिता देते हैं। लेकिन एक बार इसे पूरा करने पर आपका भविष्य उज्जवल होता है।

PhD करने के बाद आपको बहुत फायदे है। PhD के बाद अगर आप चाहें तो टीचिंग में अच्छा करियर बना सकते हैं।

PhD करके आप यूनिवर्सिटीज और कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर जैसे बड़े पद पर काम करते हैं, आगे जाकर आप प्रोफेसर भी बन सकते हैं।

आपकी सैलरी और भत्ते एक टीचर की तुलना में काफी अच्छा होते हैं। सामाजिक रुतबा भी बहुत ज्यादा होता है क्यूंकि इसमें उनके नाम के आगे अक्सर डॉक्टर लगा होता है।

पीएचडी के बाद ऊपर दिए गए करियर ऑप्शंस के अलावा  भी बहुत सारे सेक्टर है जहां पीएचडी करके अच्छा करियर आप बना सकते हैं।

जरुर पढ़ें :-पीसीएस (Pcs) में कौन कौन सी पोस्ट होती है

पीएचडी करने के लिए एडमिशन कैसे लें ?

PhD में एडमिशन लेने के लिए सबसे पहले आपको एन्ट्रेंस एग्जाम देना होता है। इसमें सबसे पहले नाम आता है UGC NET का। साइंस के स्टूडेंट CSIR UGC NET exam देते हैं।

एक और एग्जाम होता है जिसे GATE कहते हैं। अगर आप इंजीनियरिंग से जुड़े सब्जेक्ट से पीएचडी करना चाहते हैं तो आप यह एग्जाम दे सकते है।

कुछ यूनिवर्सिटीज और इंस्टीट्यूट अपनी तरफ से प्रवेश परीक्षा भी लेते हैं। जैसे JNU PhD entrance, BHU RET, TIFR (टाटा इंस्टीट्यूट के लिए), BITS (बिड़ला इंस्टीट्यूट), AIIMS, BARC (भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर)।

एंट्रेंस एग्जाम पास होने के बाद इंटरव्यू होता है। 

इन्टरव्यू में जो कैंडिडेट्स सलेक्ट होते हैं उनको पीएचडी में एडमिशन मिल जाता है। कुछ यूनिवर्सिटीज NET या GATE एग्जाम पास करने पर डायरेक्ट एडमिशन दे देती हैं लेकिन सभी यूनिवर्सिटी ऐसे नही करती है।

ये सभी एग्जाम बहुत मुश्किल होते हैं। लेकिन अगर आप पूरी मेहनत से तैयारी करें तो सब कुछ आसान हो जाता है। 

सलेक्शन के बाद आपको एक गाइड या सुपरवाइजर के अंडर पीएचडी करनी होती है। वो आपको गाइडलाइन, कोर्स की पूरी जानकारी दे देते हैं। उसके मुताबिक आपको स्टडी करनी होती है।

इस दौरान आपको सेमिनारों में भाग लेना होता है। अपने रिसर्च पेपर पब्लिश करने होते हैं और कई तरह की एकेडमिक गतिविधियों में भाग लेना होता है।

उपरोक्त दिए गए सभी तथ्यों को उसके बाय स्टेप बाप पढ़ेंगे तो आपको पता चल जाएगा कि पीएचडी करने के लिए एडमिशन कैसे लें।

यह भी पढ़ें :-टीचर बनने के लिए क्या करें

CONCLUSION

दोस्तों, हम उम्मीद करते है कि आज के इस लेख (article) के माध्यम से आप लोग समझ गए होंगे कि “पीएचडी कितने साल की होती है | PhD Kitne Saal Ki Hoti Hai” जिसकी पुरी जानकारी इस लेख के माध्यम से देने का कोशिश किए हैं।

यदि आपको यह जानकारी “पीएचडी कितने साल की होती है | PhD Kitne Saal Ki Hoti Hai” अच्छी लगी हो तो आप  WhatsApp, Facebook के जरिये Share भी कर सकते हैं, ताकि और भी लोगों को यह जानकारी मिल पाए।

आपके मन में यदि कोई सवाल एवं सुझाव हो तो Comments Box में आप पोस्ट कर के हमे पूछ सकते हैं, जल्द से जल्द आपके सवालों का जवाब देने का प्रयास किया जाएगा, धन्यवाद।

यह भी पढ़ें :-

इस लेख में हमने जाना :-

पीएचडी कितने साल की होती है | PhD Kitne Saal Ki Hoti Hai | PhD Course Ki Fees Kitni Hoti Hai | PhD ki Taiyari Kaise Kare | PhD Kaise Karen | PhD Ke Liye Yogyata | PhD Ke Baad Career Option | 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *