join Telegram channel Join Now
join WhatsApp channel Join Now

PTET Ke Baad Kya Kare | पीटीईटी के बाद क्या करें

PTET Ke Baad Kya Kare | पीटीईटी के बाद क्या करें आज के लेख के माध्यम से हम इसी के बारे में जानने वाले हैं और साथ ही पीटीईटी के बारे में और भी काफी सारे सवालों का जवाब आज हम जानने वाले हैं।

पीटीईटी (PTET) के बारे में बात किया जाए तो पीटीईटी (PTET) का फुल फॉर्म Pre Teacher Education Test होता है। 

पीटीईटी के बारे में कहा जाए तो यह सेकंड या थर्ड ग्रेड टीचर बनने की योग्यता के लिए कराया जाने वाला एक कोर्स है इस कोर्स को राजस्थान b.Ed के नाम से भी जाना जाता है।

इस कोर्स को करने के बाद कोई भी व्यक्ति टीचर बनने के लिए होने वाली प्रवेश परीक्षाओं में भाग ले सकते हैं अर्थात वह एलिजिबल हो जाते हैं किसी भी प्रवेश परीक्षा में भाग लेने के लिए।

पीटीईटी राजस्थान में हर साल आयोजित होने वाला एक एंट्रेंस एग्जाम है जिसके माध्यम से स्टूडेंट्स को बी ऐड या बीए , बीएससी में प्रवेश मिलता है इसकी प्रवेश परीक्षा का आयोजन हर साल मई माह के लगभग में की जाती है।

साधारण तौर पर यदि पीटीईटी के बारे में बात किया जाए तो पीटीईटी b.Ed कोर्स में प्रवेश पाने के लिए एक परीक्षा होता है, जिसे करने के बाद किसी भी b.Ed या इससे संबंधित या टीचर प्रवेश परीक्षा देने के लिए एलिजिबल हो जाते हैं।

PTET Ke Baad Kya Kare | पीटीईटी के बाद क्या करें | PTET कोर्स कितने साल का होता है
PTET Ke Baad Kya Kare | पीटीईटी के बाद क्या करें

आज के इस लेख के जरिए हम बारीकी से जानने वाले हैं कि PTET Ke Baad Kya Kare | पीटीईटी के बाद क्या करें जिसको इस लेख के माध्यम से हम बारीकी से जानने वाले हैं।

इस लेख को अंतिम तक पढ़े ताकि आपको सभी प्रकार की जानकारी अच्छे से समझ में आ जाए और आप अच्छे से सभी सवालों का जवाब जान पाएं।

PTET Ke Baad Kya Kare | पीटीईटी के बाद क्या करें

जैसा कि आपने जाना की पीटीईटी कोर्स टीचर बनने के लिए किया जाता है, लेकिन आपको यह बता दें कि पीटीईटी करने के बाद आप डायरेक्ट टीचर नहीं बन सकते हैं। 

इसके लिए आपको टीचर बनाने के लिए प्रवेश परीक्षा पास करना होता है। पीटीईटी का मतलब यह होता है कि आप किसी भी टीचर बनने के लिए होने वाली परीक्षा में आवेदन दे सकते हैं।

पीटीईटी के बारे में तो अच्छे से समझ गए होंगे चलिए अब हम जानते हैं कि पीटीईटी के बाद क्या करें (PTET Ke Baad Kya Kare)।

यदि आपने पीटीईटी किया हुआ है तो यह जाहिर सी बात है कि आप एक शिक्षक बनना चाहते होंगे और यदि आप एक शिक्षक बनना चाहते हैं तो पीटीईटी शिक्षक बनने का पहला चरण है।

इसके बाद आप कई कोर्स को कर सकते हैं और एक शिक्षक बन सकते हैं, जोकि निम्नलिखित है।

  • B.Ed
  • BTC
  • D.El.Ed
  • UGC
  • PRT प्राइमरी टीचर
  • TGT प्रशिक्षित ग्रेजुएट शिक्षक
  • PGT पोस्ट ग्रेजुएट शिक्षक

B.Ed

B.Ed के बारे में बात किया जाए तो b.Ed का फुल फॉर्म Bachelor Of Education होता है जिसको हिंदी में शिक्षा में स्नातक कहा जाता है।

पीटीईटी करने के बाद आप b.Ed  कर सकते हैं और b.Ed करने के बाद आप किसी भी टीचर बनने के लिए प्रवेश परीक्षा में परीक्षा देकर एक शिक्षक बन सकते हैं।

BTC

बीटीसी के बारे में बात किया जाए तो बीटीसी का फुल फॉर्म BASIC TRAINING COURSE होता है, इसको हिंदी में साधारण शिक्षण कोर्स कहा जाता है।

आप पीटीईटी करने के बाद इस कोर्स को कर सकते हैं और इस कोर्स को करने के बाद आप आसानी से एक शिक्षक बन सकते हैं और किसी भी विद्यालय में पढ़ाने योग्य बन सकते हैं।

D.El.Ed

D.El.Ed के बारे में बात किया जाए तो इस का फुल फॉर्म Diploma In Elementary Education होता है।

यह कोर्स प्राइमरी स्कूल के बच्चों को पढ़ाने के लिए किया जाता है प्राइमरी क्लास के बच्चों को पढ़ाने के लिए सरकार ने टीचर्स को टीईटी का एग्जाम देना अनिवार्य कर दिया है।

टीईटी भी दो तरह का होता है पहला राज्य स्तर पर और दूसरा केंद्रीय स्तर पर।

D.El.Ed कोर्स को करके एक शिक्षक बन सकते हैं और बच्चे को पढ़ा सकते हैं।

PRT (प्राइमरी टीचर)

आप पीटीईटी करने के बाद PRT (प्राइमरी टीचर) भी बन सकते हैं, इसमे होने वाली सभी परीक्षा को आप देने के लिए एलिजबल रहते हैं। 

TGT (प्रशिक्षित ग्रेजुएट शिक्षक)

आप पीटीईटी करने के बाद TGT (प्रशिक्षित ग्रेजुएट शिक्षक) भी बन सकते हैं, इसमे होने वाली सभी परीक्षा को आप देने के लिए भी एलिजबल रहते हैं। 

PGT (पोस्ट ग्रेजुएट शिक्षक)

ठीक उसी प्रकार आप पीटीईटी करने के बाद PGT (पोस्ट ग्रेजुएट शिक्षक) भी बन सकते हैं, इसमे होने वाली सभी परीक्षा को आप देने के लिए भी एलिजबल रहते हैं। 

यह भी पढ़ें :-टीचर बनने के लिए क्या करें

PTET कोर्स कितने साल का होता है

पीटीईटी कोर्स की अवधि के बारे में बात किया जाए तो इसकी अवधि अलग-अलग कॉलेजों में अलग-अलग हो सकती है।

यह कहा जा सकता है कि प्रत्येक कॉलेज में अपने अनुसार से इसकी अवधि सेट की हुई होती है लेकिन यह कोर्स के बारे में अनुमानित एक अवधि जो है वह 2 वर्ष से 4 वर्ष के बीच होती है।

लेकिन अधिकतर कॉलेजों में पीटीईटी दो साल का कोर्स होता है लेकिन यदि आप इस कोर्स को 12वीं के बाद कर रहे हैं तो यह आपके लिए 4 वर्ष का कोर्स हो जाएगा।

जरुर पढ़ें :- 12वीं के बाद शिक्षक (Teacher) कैसे बने?

टीईटी में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए?

टीईटी पास होने के लिए नंबर की बात किया जाए तो अन्य परीक्षाओं की तरह इसमें भी आप 33% लाकर पास हो सकते हैं।

लेकिन उतना मार्क्स किसी काम का नहीं होता है क्योंकि आगे किसी भी परीक्षा या किसी भी कोर्सेज में जाने के लिए आपको कम से कम 45% या उससे ज्यादा मार्क्स चाहिए।

अर्थात यह कहा जा सकता है कि टीईटी पास करने के लिए लगभग 50% मार्क्स के साथ होना बहुत जरूरी है क्योंकि इससे कम रहने पर आपको आगे दिक्कत हो सकती है।

इसलिए आप जब भी पढ़ाई करें यह ध्यान रखें कि आपके मार्क्स 50% से ऊपर होना चाहिए और आप अच्छे से ध्यान देकर पढ़ाई करें तो यह बहुत ही आसान है।

जरुर पढ़ें :-साइंस में कौन-कौन सी जॉब होती है? 

पीटीईटी करने से क्या फायदा होता है?

पीटीईटी करने के बहुत सारे फायदे होते हैं यह करने के बाद आप को निम्नलिखित फायदे हो सकते हैं।

  • टीचर के लिए एलिजिबल हो जाते हैं 
  • इसको करने के बाद आप b.ed के कोर्स को भी कर सकते हैं जिससे आपको टीचर की जॉब पाने के लिए एक योग्यता मिल जाती है 
  • यह करने के बाद आप स्टूडेंट हैंडलिंग भी सीख जाते हैं 
  • यह कोर्स को करने के बाद टीचिंग जॉब भी आप पा सकते हैं 
  • पीटीईटी करने के बाद एजुकेशन और कैरियर काउंसलर भी आप बन जाते हैं 
  • पीटीटी करने के बाद आप प्राइवेट टि्वटर भी बन सकते हैं

पीटीईटी करने से आपको यह सब फायदा हो सकते हैं जो कि ऊपर दिया गया है और इसके अलावा भी आप कई सारे कार्य को कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें :-पुलिस की सैलरी कितनी होती है?

पीटीईटी और B Ed में क्या अंतर है?

पीटीईटी और b.ed में अंतर की बात किया जाए तो साधारण भाषा में कहें तो पीटीईटी परीक्षा b.Ed कोर्स में प्रवेश लेने का एक जरिया होता है।

अर्थात पीटीईटी b.Ed कोर्स के पहले एक कोर्स का नाम है जिसको b.Ed कोर्स में जाने के लिए किया जाता है।

और b.Ed पीटीईटी करने के बाद आप कर सकते हैं अर्थात यह कहा जा सकता है कि पीटीईटी b.Ed के पहले ही आप कर सकते हैं।

और b.ed को पीटीईटी करने के बाद आप कर सकते हैं अर्थात पीटीईटी एक रास्ता है जिससे हमें b.Ed तक पहुंचना होता है और जिसको करने के बाद हम b.Ed में दाखिला ले सकते हैं।

जरुर पढ़ें :-गणित में कौन कौन सी जॉब होती है?

पीटीईटी में कौन से सब्जेक्ट आते हैं?

पीटीईटी में सब्जेक्ट का बात किया जाए तो इसमें टीचिंग एटीट्यूड एवं एप्टीट्यूड टेस्ट, मेंटल एबिलिटी, लैंग्वेज प्रोफिशिएंसी, जनरल अवेयरनेस इत्यादि सब्जेक्ट आते हैं इसके अलावा भी कई सारे सब्जेक्ट है जिसकी आप पढ़ाई पीटीईटी में कर सकते हैं।

पीटीईटी दो वर्ष का कोर्स होता है जिसको करने के बाद आप टीचर के लिए अप्लाई कर सकते हैं और एक टीचर बन सकते हैं।

और बात किया जाए तो पीटीईटी करने के बाद आप b.ed भी कर सकते हैं और आप सभी को पता होगा कि b.Ed करने के बाद आप एक सरकारी शिक्षक भी बन सकते हैं।

CONCLUSION :-

आज के इस लेख के माध्यम से हमने बताने का पूरी कोशिश किया है कि PTET Ke Baad Kya Kare | पीटीईटी के बाद क्या करें और इससे संबंधित सभी प्रकार के सवालों का भी जवाब इस लेख में दिया गया है।

आज का यह लेख “PTET Ke Baad Kya Kare | पीटीईटी के बाद क्या करें” जिसको अच्छे से बताने का कोशिश किया गया है और यह उम्मीद करता हूं कि आपको यह लेख बहुत पसंद आया होगा, और इस लेख की सारी जानकारी आपको अच्छे से समझ में आ गई होगी।

अतः आप लोग जरूर बताएं कि आज का यह लेख PTET Ke Baad Kya Kare | पीटीईटी के बाद क्या करें आप लोगों को कैसा लगा और यदि आपके मन में किसी प्रकार का सवाल या सुझाव हो तो आप कमेंट बॉक्स में अपना कमेंट कर सकते हैं, जल्द से जल्द आपके सवालों का जवाब देने का प्रयास करूंगा।

यह भी पढ़ें :-

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *