स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर कैसे बनें

स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर कैसे बने | Gynecologist Doctor Kaise Bane

स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर कैसे बनें | stri Rog visheshagya doctor Kaise bane | gynecologist doctor Kaise bane आज के इस लेख में हम यही जानने वाले हैं और इसी के ऊपर आज के इस लेख में चर्चा किया जाएगा।

यदि आपके भी मन में यह सवाल है या आप भी एक स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर बनाना चाहते हैं, तो आज के इस आर्टिकल को पूरा अंत तक जरूर पढ़ें ताकि आपको संपूर्ण जानकारी मिल सके क्योंकि आज के इस आर्टिकल में इससे संबंधित सभी प्रकार के सवालों का जवाब दिया गया है।

जब भी किसी व्यक्ति को किसी भी तरह की हेल्थ प्रॉब्लम होती है तो वह डॉक्टर के पास ही जाता है लेकिन कुछ बीमारियों के लिए स्पेशल डॉक्टर होते हैं अर्थात हर एक डॉक्टर किसी एक बीमारी के लिए स्पेशल होते हैं।

स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर कैसे बनें | stri Rog visheshagya doctor Kaise bane | gynecologist doctor Kaise bane
स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर कैसे बने | Gynecologist Doctor Kaise Bane

तो चलिए अब हम स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर बनने के पूरे प्रोसेस को जानते हैं और साथ में यह भी जानते हैं कि इसमें कितनी योग्यता चाहिए तथा इसकी पढ़ाई करने में कितना समय लगता है और कितना फीस लगता है।

आज के इस लेख में हम एक स्पेशल बीमारी के डॉक्टर की बात करेंगे जो है स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर अर्थात यदि आप स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर बनकर सेवा करना चाहते हैं तो यह लेख पूरा जरूर पढ़ें इसमें बताया गया है कि स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर कैसे बनें | stri Rog visheshagya doctor Kaise bane | gynecologist doctor Kaise bane

स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर कैसे बनें | stri Rog visheshagya doctor Kaise bane | gynecologist doctor Kaise bane

स्त्री रोग विशेषज्ञ बनने के लिए आपको सबसे पहले एमबीबीएस मैं एडमिशन लेने होंगे। एमबीबीएस में एडमिशन लेने के लिए आपकी 12वीं की परीक्षा में कम से कम 50% मार्क्स होने चाहिए, इसके बाद ही आप एमबीबीएस की टॉप कॉलेजेस में अपना एडमिशन ले सकते हैं।

अब बात करें एमबीबीएस में एडमिशन कैसे होगा तो आपको बता दें कि एमबीबीएस में एडमिशन लेने के लिए सबसे पहले आपको नीट यूजी एंट्रेंस एग्जाम पास करना होगा हर साल नीट एग्जाम का आयोजन किया जाता है जिसमें हजारों स्टूडेंट्स एग्जाम देते हैं।

एंट्रेंस एग्जाम पास करने के बाद आपकी रैंक के अनुसार आपको कॉलेज में एडमिशन मिलेगा। कॉलेज अलॉट होने के बाद आप एमबीबीएस में एडमिशन की प्रक्रिया को आगे बढ़ा सकते हैं।

एमबीबीएस 6 साल का कोर्स होता है जिसमें 1 साल की इंटरशिप भी शामिल होती है, अर्थात 5 साल का कोर्स होता है तथा 1 साल का इंटरशिप होता है कुल मिलाकर आपको 6 साल का कोर्स करना पड़ता है।

एमबीबीएस की पढ़ाई पूरी करने के बाद आपको नीट पीजी एंट्रेंस एग्जाम देना होगा। यह सबसे हार्ड एग्जाम होता है। इसके बाद ही आप पीजी कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं और स्पेशलाइजेशन कर सकते हैं।

NEET-PG entrance exam पास करने के बाद आप Gynecology के M.S. या M.D. course में admission लें। M.S. या M.D. course में ही आपको specialization चुननी होगी। 

Gynecology specialization का एक option है। M.S. या M.D. तीन साल का course है। Degree पूरी करने के बाद आपको किसी hospital में या independently three-year की internship senior residency पूरी करनी होगी।

ऊपर दिए गए सभी प्रोसेस को पूरा करने के बाद आप एक स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर बन जाते हैं तथा आप चाहे तो अपना क्लीनिक भी खोल सकते हैं या सरकारी डॉक्टर भी बन सकते हैं।

स्त्री रोग विशेषज्ञ बनने के लिए क्या करना पड़ता है?

स्त्री रोग विशेषज्ञ बनने के लिए आपको एमडी डॉक्टर ऑफ़ मेडिसिन एमएस मास्टर ऑफ सर्जरी डीएनबी डिप्लोमा ऑफ मेडिसिन या स्त्री रोग (DGO) डिप्लोमा कोर्स करना पड़ता है।

इसके बाद लगभग 5 साल का एमबीबीएस प्रोग्राम और 1 साल का इंटर्नशिप करने के बाद आप गायनेकोलॉजी में पोस्टग्रेजुएट कर सकते हैं। 

पोस्ट ग्रैजुएट प्रोग्राम (MD/MS/DNB) लगभग 3 साल की अवधि के होते हैं। स्त्री रोग (DGO) पाठ्यक्रम में डिप्लोमा 2 वर्ष की अवधि का होता है।

पोस्ट ग्रैजुएट प्रोग्राम चयन प्रवेश परीक्षा के माध्यम से होता है निजी मेडिकल कॉलेजों में संस्थानों द्वारा व्यक्तिगत रूप से प्रवेश परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं जो प्रत्येक कॉलेज मैं अलग अलग हो सकती है।

जरुर पढ़ें :जीएनएम के बाद डॉक्टर कैसे बने?

गाइनेकोलॉजिस्ट (Gynaecologist) बनने के लिए विशेष योग्यता

किसी भी गायनेकोलॉजिस्ट (Gynaecologist) का काम जिम्मेदारी वाला होता है, जहां पर किसी भी स्त्री की जान को खतरा भी हो जाता है। 

ऐसी स्थिति में अगर आप भी एक योग्य और कुशल गाइनेकोलॉजिस्ट बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको इन मुख्य योग्यताओं के माध्यम से आगे बढ़ना होगा। 

इसके लिए सबसे पहले आपको स्कूली स्तर पर 10वीं और 12वीं कक्षा की पढ़ाई बायोलॉजी विषय से करनी होगी ताकि आप आगे इस पढ़ाई को पूरी कर सके।

इसके लिए आपको 12वीं कक्षा में कम से कम 50% अंकों के साथ परीक्षा पास करनी होगी ताकि आप सही तरीके से आगे की तैयारी कर सके।

इसके पश्चात आपको सबसे पहले एमबीबीएस की पढ़ाई पूरी करनी होगी जिसके लिए आप को NEET के एंट्रेंस एग्जाम को पास करना होगा।

जब आपका MBBS पूरा हो जाता है, तो उसके बाद पीजी में एडमिशन लेना होगा जिसके लिए भी एंट्रेंस एग्जाम लिया जाता है।

एग्जाम क्लियर होने के बाद आपको एमएस और एमडी प्रोग्राम में एडमिशन लेना होगा ताकि आप आगे की पढ़ाई गयनेकोलॉजिस्ट (Gynaecologist) के माध्यम से पूरी कर सके और बेहतर भविष्य संवार सकें।

जरुर पढ़ें :-12वीं के बाद डॉक्टर कैसे बने?

गायनोकोलॉजिस्ट (Gynaecologist) की पढ़ाई में लगने वाला समय

अगर आप एक कुशल गाइनेकोलॉजिस्ट (Gynaecologist) बनना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको काफी समय देना पड़ता है, उसके बाद ही आप एक कुशल गायनेकोलॉजिस्ट बन सकते हैं। 

सबसे पहले आपको 5 साल की एमबीबीएस की डिग्री पूरी करनी होती है उसके बाद 1 साल का इंटर्नशिप होता है। इंटर्नशिप करने के बाद आपको 3 साल का सीनियर इंटर्नशिप प्रोग्राम पूरा करना होगा जो गायनोकोलॉजिस्ट (Gynaecologist) बनने के लिए जरूरी माना गया है।

जरुर पढ़ें :-नीट की फीस कितनी है

गाइनेकोलॉजिस्ट (Gynaecologist) बनने के लिए लगने वाली फीस

गायनेकोलॉजिस्ट बनने के लिए लगने वाली फिश के बारे में बात किया जाए तो सबसे पहले आपको एमबीबीएस करना होता है जिसके लिए आपको किसी भी गवर्नमेंट कॉलेज में 30000 से ₹50000 देना पड़ता है। 

उसके बाद आगे की पढ़ाई जारी रखना होता है एक गायनोकोलॉजिस्ट बनने के लिए, तो आपको एक लाख से डेढ़ लाख रुपया प्रति वर्ष देना पड़ता है जो कि लगभग 3 साल तक आपकी पढ़ाई पूरी हो जाती है।

उसके बाद आप एक कुशल गायनोकोलॉजिस्ट बन जाते हैं, आप अपना क्लीनिक भी खोल सकते हैं थोड़ा सरकारी डॉक्टर भी बन सकते हैं। 

जरुर पढ़ें :-साइंस में कौन-कौन सी जॉब होती है?

गाइनेकोलॉजिस्ट डॉक्टर क्या होता है?

गायनेकोलॉजिस्ट या स्त्री रोग विशेषज्ञ महिला अंगों और प्रजनन प्रणाली के स्वास्थ्य संबंधी चिकित्सा विज्ञान की शाखा में विशेषज्ञ होते हैं।

पेशेवरों के रूप में, स्त्री रोग विशेषज्ञ महिलाओं के स्वास्थ्य पर ध्यान केंद्रित करते हैं, महिलाओं के लिए एक प्राथमिक चिकित्सक और अन्य चिकित्सकों के परामर्शदाता के रूप में कार्य करते हैं। 

उन्हें प्रजनन प्रणाली में रोगों और विकारों के निदान और उपचार के लिए प्रशिक्षित किया जाता है। स्त्री रोग विशेषज्ञ गर्भावस्था, यौन स्वास्थ्य और बांझपन या प्रजनन कैंसर जैसी गंभीर प्रजनन समस्याओं के उपचार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। 

स्त्री रोग विशेषज्ञ का काम महिला जननांग, मूत्र और मलाशय के अंगों से संबंधित बीमारी और मुद्दों की पहचान करना है, रोगी को ठीक करना है और यदि आवश्यक हो, तो विकार को ठीक करने या रोगग्रस्त अंग को हटाने के लिए आवश्यक चिकित्सा सहायता या सर्जरी करते हैं।

Gynecology, female reproductive system से जुड़ी हुई चिकित्सा पद्धति है। Gynecology की पढ़ाई कर स्त्री रोगों का treatment और diagnosis करने वाले व्यक्ति Gynecologist कहलाते हैं। 

इसे  “The Science of Women” भी कहा जाता है। Treatment method में surgical और medical procedure दोनों प्रक्रियाओं को शामिल किया जाता है। एक Gynecologist के रूप में आपको तीन बातों की जानकारी होना जरुरी है:

  • Gynecology for female reproductive health
  • Obstetrics for delivery and the pregnancy process
  • Reproductive Medicine

जरुर पढ़ें :-पीसीएस (Pcs) में कौन कौन सी पोस्ट होती है

गायनेकोलॉजिस्ट (Gynaecologist) की सैलरी

गायनेकोलॉजिस्ट या स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर की सैलरी की बात किया जाए तो इनकी सैलरी अलग-अलग प्रकार के हो सकते हैं इसमें अनुभव के अनुसार सैलरी घटते या बढ़ते रहते हैं।

अगर आपने अपनी गाइनेकोलॉजिस्ट (Gynaecologist) की पढ़ाई पूरी कर ली है और आप किसी अच्छे इंस्टिट्यूट में प्रवेश ले चुके हैं, तो आपके मन में यह सवाल जरूर आ रहा होगा कि गाइनेकोलॉजिस्ट या स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर की सैलरी कितनी होती है।

स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर की सैलरी की बात किया जाए तो उनका सैलरी ₹30000 से ₹50000 प्रति माह हो सकता है। जैसे जैसे उनका अनुभव बढ़ता है, उनकी सैलरी भी वैसे-वैसे बढ़ती जाती है।

यदि आप एक अच्छे गाइनेकोलॉजिस्ट या स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर बन गए हैं तो आप अपना एक क्लीनिक भी खोल सकते हैं जिसमें आप बहुत अधिक पैसे कमा सकते हैं। 

जरुर पढ़ें :- 12वीं के बाद शिक्षक (Teacher) कैसे बने?

गायनिक प्रॉब्लम क्या है?

गायनिक प्रॉब्लम के बारे में कहा जाए तो स्त्रियों के गुप्त रोग को गायनिक प्रॉब्लम कहा जाता है, जिसमें प्रसूति से जुड़ी सभी प्रकार की बीमारियों को शामिल किया जाता है।

यदि किसी महिला को मेनोपॉज होता है तो उसे गायनिक एक्सपर्ट से कंसल्ट करके मेनोपॉज हारमोनल थैरेपी लेनी चाहिए। इससे विपरीत प्रभावों से बचा जा सकता है। 

यह समस्या 40 वर्ष की उम्र के बाद महिलाओं में आना शुरू होती है। जिसमें पीरियड का अनियमित होना, नींद नहीं आना इसके शुरुआती लक्षण होते हैं।

जरुर पढ़ें :-इंडियन आर्मी में डॉक्टर कैसे बने?

गायनिक का मतलब क्या होता है?

गायनिक का मतलब हिंदी में स्त्री रोग होता है। महिलाओं से जुड़ी अथवा प्रसूति से जुड़ी विशेष बीमारियों को स्त्री रोग या गायनिक कहा जाता है। 

स्त्री-रोग विज्ञान, एक महिला की प्रजनन प्रणाली के स्वास्थ्य हेतु अर्जित की गयी शल्यक (सर्जिकल) विशेषज्ञता को संदर्भित करता है। 

मूलतः यह ‘महिलाओं की विज्ञान’ का है। आजकल लगभग सभी आधुनिक स्त्री-रोग विशेषज्ञ, प्रसूति विशेषज्ञ भी होते हैं।

जरुर पढ़ें :-जीएसटी में करियर कैसे बनाएं

स्त्री रोग क्यों होता है?

स्त्री रोग होने के बहुत सारे कारण हो सकते हैं जिसमें से कुछ मुख्य कारण खाने के और नियमित तरीके से हो सकती है।

अक्सर ऐसा देखा जाता है कि आजकल खाने पीने पर विशेष ध्यान नहीं दिया जाता है और फास्ट फूड आजकल ज्यादातर खाने में प्रयोग किया जाता है जिस कारण से स्त्री रोग कई तरह के हो जाते हैं।

यदि स्त्री रोग से बचना है तो हमेशा स्वस्थ और तंदुरुस्त खाना खाएं फास्ट फूड का ज्यादातर इस्तेमाल नहीं करें और दूध तथा वनस्पति का सेवन करें। 

जरुर पढ़ें :-12 वीं के बाद कंप्यूटर कोर्स सूची

CONCLUSION:- स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर कैसे बनें | gynecologist doctor Kaise bane

दोस्तों, हम उम्मीद करते है कि आज के इस लेख के माध्यम से आप लोग समझ गए होंगे कि “स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर कैसे बनें | stri Rog visheshagya doctor Kaise bane | gynecologist doctor Kaise bane” जिसकी पुरी जानकारी इस लेख के माध्यम से देने का कोशिश किया हूं।

यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो “स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर कैसे बनें | stri Rog visheshagya doctor Kaise bane | gynecologist doctor Kaise bane” तो आप  WhatsApp, Facebook के जरिये Share भी कर सकते हे ताकि और भी Students को जानकारी मिल पाए।

आपके मन में कोई सवाल एवं सुझाव हो तो Comments Box में आप पोस्ट कर के हमे पूछ सकते हैं, से जल्द आपके सवाल का जवाब देने का प्रयास करूंगा, धन्यवाद।

यह भी पढ़ें :-

1 thought on “स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर कैसे बने | Gynecologist Doctor Kaise Bane”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *