WhatsApp Group Join Now

UPSC की तैयारी में कितना खर्च आता है | UPSC ki taiyari mein Kitna kharch aata hai

UPSC की तैयारी में कितना खर्च आता है (UPSC ki taiyari mein Kitna kharch aata hai) आज के इस लेख के माध्यम से हम जाने वाले हैं और साथ ही यूपीएससी से संबंधित सभी प्रकार के सवालों का जवाब भी आज हम जानेंगे।

भारत में बहुत सारे छात्र आईएएस बनने का सपना देखते हैं और आपको बता दें कि आईएएस बनने के लिए यूपीएससी का परीक्षा देना पड़ता है।

यूपीएससी के बारे में बात किया जाए तो यह एक प्रकार का परीक्षा लेने का माध्यम होता है जिस का फुल फॉर्म UNION PUBLIC SERVICE COMMISSION होता है तथा जिसको हिंदी में संघ लोक सेवा आयोग कहा जाता है।

आईएएस बनने के लिए यूपीएससी में लगभग 10 लाख आवेदन भरे जाते हैं जिसमें से लगभग प्राथमिक एग्जाम में 600000 अभ्यर्थी शामिल होते हैं।

UPSC की तैयारी में कितना खर्च आता है | UPSC में कितना समय लगता है? | UPSC क्या पूछता है?
UPSC की तैयारी में कितना खर्च आता है | UPSC में कितना समय लगता है? | UPSC क्या पूछता है?

यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी करने वाले अभ्यर्थियों के खर्चे दिन प्रतिदिन अधिक होती ही जा रही है क्योंकि यूपीएससी में बहुत ज्यादा कंपटीशन होने के कारण इसकी फीस भी बहुत अधिक होती है।

ऐसे में लोग क्लास फैमिली तथा मिडल क्लास फैमिली का यूपीएससी का तैयारी करना थोड़ा बहुत कठिन हो जाता है।

ऐसे में बहुत सारे लोगों का तथा छात्रों का यह सवाल था कि UPSC की तैयारी में कितना खर्च आता है (UPSC ki taiyari mein Kitna kharch aata hai)।

तो चलिए आज के इस लेख के माध्यम से हम इसके बारे में बात करेंगे और जानेंगे कि इसमें कितना खर्च होता है तथा इसकी तैयारी किस किस तरीके से हम कर सकते हैं जिसमें खर्च को कम किया जा सकता है।

तो जल्दी आपको पूरी जानकारी चाहिए तो आप इस लेख को पूरा अंदर तक पढ़ा था कि आपको सब कुछ अच्छे से समझ में आ जाए और किसी भी प्रकार का कोई दिक्कत ना रहे।

UPSC की तैयारी में कितना खर्च आता है | UPSC ki taiyari mein Kitna kharch aata hai

यूपीएससी की तैयारी करने में कोचिंग फीस और किताबें तथा नोटबुक, करंट अफेयर्स को लेकर लगभग 2000 से ₹3000 प्रति महीने खर्च हो सकती है।

यूपीएससी की तैयारी कराने वाले कुछ कोचिंग संस्थानों की फीस बहुत अधिक है तो कुछ कोचिंग संस्थानों की फीस कम भी होती है आपके नजदीकी कोचिंग संस्थान जो भी है वहां से आप पता कर सकते हैं कि उनकी फीस क्या है।

कोचिंग संस्थानों की फीस की बात की जाए तो बहुत सारे कोचिंग संस्थानों में कोर्स पूरी कराने का फीस एकमुश्त लेता है तो बहुत जगह पर मंथ वाइज फीस लिया जाता है।

अनुपातिक तौर पर देखा जाए तो लगभग सभी कोचिंग संस्थानों की फीस ₹2000 से ₹5000 प्रति महीना तक होती है जिन कोचिंग संस्थानों में एकमुश्त फीस लिया जाता है उनका भी फीस इतना ही होता है।

यदि आप यूपीएससी की तैयारी करना चाहते हैं तो आपको बता दें कि यदि आपके घर से संभव हो तो आप अपने घर से ही कोचिंग करें और यदि आपके कोचिंग सेंटर आपके घर से बहुत ज्यादा दूर है तो आप कोचिंग सेंटर के नजदीक ही कहीं लॉज में रहकर अपना तैयारी पूरी करें।

क्योंकि यूपीएससी का एग्जाम बहुत ही कठिन होता है और इसकी तैयारी बहुत ही मेहनत और लगन से करना होता है नहीं तो आप यूपीएससी की एग्जाम में फेल हो जाएंगे।

जितना हो सके आप समय की बचत करें और अधिक से अधिक पढ़ाई करने की कोशिश करें और खर्चे की बात की जाए तो फिजूलखर्ची को कम करें तथा पैसा को बचाएं।

क्योंकि एक मिडिल क्लास तथा लोअर क्लास फैमिली के लिए यूपीएससी की एग्जाम की फीस को मैनेज कर पाना मुश्किल होता है।

जरुर पढ़ें :-गणित में कौन कौन सी जॉब होती है?

यूपीएससी का फॉर्म भरने में कितना पैसा लगता है?

यूपीएससी का फॉर्म भरने में आवेदन शुल्क ₹100 हैं जिसमें एससी एसटी और महिला उम्मीदवारों के लिए कोई भी शुल्क नहीं देना होता है अर्थात उनकी शुल्क ₹0 होती है।

आपको पता था कि यूपीएससी में बहुत सारे अभ्यर्थी अप्लाई करते हैं और आवेदन करते हैं तथा बहुत सारे अभ्यर्थियों का आवेदन रद्द हो जाता है।

आवेदन रद्द होने का कारण यह होता है कि उनका ₹100 आवेदन फीस किसी भी कारण से जमा नहीं हो पाता है जिसके कारण उसका आवेदन रद्द हो जाता है।

तो आप यह ध्यान रखें कि जब भी आप ऑनलाइन करें अच्छे से ऑनलाइन करें ताकि किसी भी प्रकार का कोई गड़बड़ी न हो और आपका आवेदन रद्द हो।

जरुर पढ़ें :-साइंस में कौन-कौन सी जॉब होती है? 

UPSC में कितने लोगों का चयन होता है?

आपको बता दें कि यूपीएससी में बहुत सारे आवेदन आते हैं लेकिन उनमें से कुछ ही आवेदनों का चयन हो पाता है पिछले आंकड़ों के अनुसार 10 लाख आवेदन में 980 का चयन हुआ था।

यदि आप यूपीएससी का तैयारी करते हैं तो यह आपको समझ में आ गया होगा कि इस परीक्षा में कितना ज्यादा कंपटीशन होता है इसलिए आप मेहनत और लगन से यूपीएससी की तैयारी करें।

यूपीएससी भारत की सबसे बड़ी कंपटीशन की परीक्षा होती है क्योंकि इसमें लगभग 1000000 से 1200000 आवेदन भरे जाते हैं जबकि मात्रा लगभग 1000 का चयन किया जाता है।

यह बहुत ही कठिन एग्जाम होते हैं तथा इसकी तैयारी विद्यार्थी बहुत पहले से शुरू कर देती है लगभग 6 साल तैयारी करने के बाद यह एग्जाम देने पहुंचते हैं उसके बावजूद भी बहुत सारे छात्र निराश होकर लौट जाते हैं।

यदि आप इस परीक्षा में पास होना चाहते हैं तो आप टेंथ और ट्वेल्थ से ही अपना बेस बना लें और उसी समय से ही आप तैयारी करना शुरू कर दें ताकि आपके पास बहुत ज्यादा समय बच्चे और आप आसानी से तैयारी कर पाए।

यह भी पढ़ें :-पुलिस की सैलरी कितनी होती है?

UPSC क्या पूछता है?

आपको बता दें कि यूपीएससी परीक्षा में 3 चरण होते हैं अर्थात 3 चरणों से आपको गुजर ना होता है उसके बाद आप यूपीएससी परीक्षा को पूरा कर पाते हैं।

पहला चरण प्रारंभिक परीक्षा तथा दूसरा चरण मुख्य परीक्षा और तीसरा या अंतिम चरण साक्षात्कार का होता है।

प्रारंभिक परीक्षा में पास होने के बाद ही आप मुख्य परीक्षा में शामिल हो सकते हैं तथा साक्षात्कार में शामिल होने के लिए आपको प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा दोनों को पास करना होता है।

यदि आप किसी भी एक परीक्षा में फेल हो जाते हैं तो आप उसे आगे नहीं जा सकते हैं आपका प्रोसेस वहीं रोक दिया जाता है।

चलिए हम यूपीएससी प्रारंभिक परीक्षा के परीक्षा पैटर्न को जानते हैं जो कि निम्नलिखित है।

सामान्य अध्ययन पेपर – Iसामान्य अध्ययन पेपर – II (CSAT)
कुल प्रश्न10080
कुल अंक200200
समय2 HRS2 HRS
नकारात्मक अंक1/31/3
प्रश्न पत्र का प्रकारवैकल्पिक प्रश्नवैकल्पिक प्रश्न

चलिए हम यूपीएससी मेंस परीक्षा के परीक्षा पैटर्न को जानते हैं जो कि निम्नलिखित है।

विषय कुल अंक
पेपर ए: अनिवार्य भारतीय भाषा300
पेपर बी: अंग्रेजी300
पेपर I: निबंध250
पेपर II: सामान्य अध्ययन – I250
पेपर III: सामान्य अध्ययन – II250
पेपर IV: सामान्य अध्ययन – III250
पेपर V: सामान्य अध्ययन – IV250
पेपर VI: वैकल्पिक – I250
पेपर VII: वैकल्पिक – II250

यह भी पढ़ें :-12वीं के बाद डीएसपी कैसे बने

UPSC में कितना समय लगता है?

यूपीएससी की तैयारी में बहुत ज्यादा समय लगता है क्योंकि इसमें कंपटीशन बहुत ज्यादा होता है और कम समय में पूरा नहीं किया जा सकता है।

आपको बता दें कि यूपीएससी की तैयारी करने में लगभग 3 साल से 5 साल का समय लग जाता है और इससे भी ज्यादा का समय लग सकता है यदि आप अच्छे से तैयारी करते हैं ।

यदि आप अभी यूपीएससी का तैयारी कर रहे हैं तो आप अभी जिस स्थिति में है उसी स्थिति में यूपीएससी की तैयारी करना शुरू कर दें।

यदि आप 12वीं में है तो आप अभी से अपना तैयारी शुरू कर सकते हैं क्योंकि अभी से आप तैयारी शुरू करेंगे तो आपके पास अच्छे खासे समय बच जाएगा तैयारी करने के लिए।

जिसमें आप अच्छे से यूपीएससी की तैयारी कर सकते हैं उधर आपका ग्रेजुएशन भी कंप्लीट होगा और इधर आपका यूपीएससी की तैयारी भी कंप्लीट हो जाएगी इसलिए समय की बचत करें और आप अभी से अपना तैयारी शुरू कर दें।

यह भी पढ़ें :-12वीं के बाद आईपीएस कैसे बनें 

UPSC कितने पेपर होते हैं?

आपको बता दें कि यूपीएससी में कुल 9 पेपर होते हैं जिसकी अवधि प्रत्येक पेपर की 3 घंटे होती है इसमें बात किया जाए तो 2 क्वालीफाइंग पेपर होते हैं तथा 7 मेरिट आधारित पेपर होते हैं।

यूपीएससी परीक्षा की बात की जाए तो इसकी परीक्षा 3 चरणों में पूरी की जाती है जोकि निम्नलिखित है।

  • प्रारंभिक परीक्षा (Prelims Exam)
  • मुख्य परीक्षा (Mains Exam)
  • साक्षात्कार (Interview)

प्रारंभिक परीक्षा (Prelims Exam):- इसमें सबसे पहले प्रारंभिक परीक्षा ली जाती है और प्रारंभिक परीक्षा को पास करने के बाद ही आप मुख्य परीक्षा में शामिल हो सकते हैं।

मुख्य परीक्षा (Mains Exam):- प्रारंभिक परीक्षा पास करने के बाद आप इस परीक्षा को दे सकते हैं यदि आप प्रारंभिक परीक्षा में फेल हो गए हैं तो आप इस परीक्षा में शामिल नहीं हो सकते हैं।

साक्षात्कार (Interview):- प्रारंभिक परीक्षा तथा मुख्य परीक्षा को पास करने के बाद ही आप साक्षात्कार के लिए चुने जाते हैं।

साक्षात्कार होने के बाद आपको ट्रेनिंग के लिए भेज दिया जाता है और आपकी नौकरी पक्की हो जाती है।

यह भी पढ़ें :-भारत में कितने आईएएस है 

UPSC की तैयारी के लिए कौन सी बुक खरीदे?

यूपीएससी की तैयारी करने के लिए सबसे पहले उनको एनसीईआरटी बुक पढ़ने की सलाह दी जाती है जिसमें सेवा कक्षा 9 से लेकर कक्षा 12 तक सभी एनसीईआरटी किताबों की पढ़ाई करें।

चलिए हम क्लास वॉइस बुक्स के नाम को बता रहे हैं जिसे यूपीएससी तैयारी करने वाले छात्र पढ़ सकते हैं जो कि निम्नलिखित है।

कक्षाविषय NCERT बुक्स
कक्षा 9सामाजिक विज्ञानलोकतांत्रिक राजनीती समकालीन भारत भाग-1 अर्थशास्त्र भारत और समकालीन विकास भाग-1
कक्षा 10सामाजिक विज्ञानभारत और समकालीन विकास भाग-2 आर्थिक विकास की समझ समकालीन भारत लोकतांत्रिक राजनीती
कक्षा 11अर्थशास्त्रभूगोल विश्व इतिहास राजनीती विज्ञानसमाज शास्त्रभारतीय अर्थव्यवस्थ का विकासभारतीय भौतिक पर्यावरण भूगोल में प्रयोगात्मक कार्य भौतिक भूगोल के मूल सिद्धांत विश्व इतिहास के कुछ विषय भारत का संविधान, सिद्धांत और व्यवहार रजनीति सिद्धांतसमाज शास्त्र भाग-Iसमाज का बोध 
कक्षा 12अर्थशास्त्र भूगोल राजनीतीइतिहास समाज शास्त्रव्यष्टि अर्थशास्त्रसमष्टि अर्थशास्त्रमानव भूगोल के मूल सिद्धांत भूगोल में प्रयोगात्मक कार्य भारत के लोग और अर्थशास्त्रभारतीय इतिहास के कुछ विषय भाग-1 भारतीय इतिहास के कुछ विषय भाग-2 भारतीय इतिहास के कुछ विषय भाग-3 समकालीन विश्व राजनीती स्वतंत्र भारत में राजनीती भाग-2 भारतीय समाज भारत में सामाजिक परिवर्तन और विकास 

यह भी पढ़ें :-आईएएस की सैलरी कितनी होती है

यूपीएससी का पेपर कौन दे सकता है?

यूपीएससी की परीक्षा में शामिल होने के लिए उम्मीदवार को किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री होना आवश्यक होता है।

यदि उम्मीदवार ग्रेजुएशन के फाइनल ईयर में है तो भी वह इस परीक्षा में शामिल हो सकते हैं लेकिन जल्दी उम्मीदवार ग्रेजुएशन के फर्स्ट ईयर में है तो वह इस परीक्षा में शामिल नहीं हो सकते हैं।

आपको बता दें कि यूपीएससी के पेपर में नाइंथ क्लास से लेकर ग्रेजुएशन तक सवालों को इकट्ठा करके पूछा जाता है इनमें से कहीं से भी आपको सवाल पूछ सकते हैं।

यूपीएससी का एग्जाम भारत की सबसे कठिन एग्जाम में से एक माना जाता है क्योंकि इस एग्जाम में लगभग 10 लाख फॉर्म भरे जाते हैं जिसमें केवल 1000 वार उम्मीदवार का चयन हो पाता है।

यह भी पढ़ें :-IAS की तैयारी में कितना खर्च आता है?

UPSC पास करने के बाद कौन सी नौकरी मिलती है?

यूपीएससी की परीक्षा को पास करने के बाद कई सारे नौकरी में आप जा सकते हैं और कई सारे बड़े बड़े ऑफिसर आप बन सकते हैं।

यूपीएससी परीक्षा पास करने के बाद आप आईएएस तथा आईपीएस ऑफिसर बनते हैं और इसके समानांतर कई और सारी ऑफिसर भी आप बन सकते हैं यह आप पर निर्भर करता है।

यूपीएससी की परीक्षा आईएएस और आईपीएस ऑफिसर के लिए ही बेसिकली ली जाती है क्योंकि इसमें कंपटीशन बहुत ज्यादा होता है और पद बहुत कम खाली होते हैं।

अर्थात चयन बहुत कम आदमी का होता है लेकिन आवेदन बहुत ज्यादा आदमी का होता है जिसके कारण कंपटीशन बहुत अधिक बढ़ जाता है इसलिए इस एग्जाम को भारत की सबसे कठिन एग्जाम माना जाता है।

यह भी पढ़ें :-इंडियन आर्मी की सैलरी कितनी होती है

CONCLUSION :- UPSC की तैयारी में कितना खर्च आता है

आज के इस लेख के माध्यम से हमने जाना कि UPSC की तैयारी में कितना खर्च आता है (UPSC ki taiyari mein Kitna kharcha aata hai) और साथ ही लोगों द्वारा पूछे गए कुछ सवालों के जवाब भी जाना।

हमको उम्मीद है कि आज का यह लेख “UPSC की तैयारी में कितना खर्च आता है (UPSC ki taiyari mein Kitna kharcha aata hai)” आपको काफी अच्छा लगा होगा।

UPSC से संबंधित सभी प्रकार के सवालों का जवाब आज हम इस लेख के माध्यम से समझ गए हैं तथा लोगों द्वारा पूछे गए सभी सवालों का जवाब भी आज हम जाने।

इसके अलावा भी आपके मन में किसी प्रकार का सवाल है तो आप कमेंट कर सकते हैं आपके सवालों का जवाब जल्द से जल्द दिया जायेगा।

यह भी पढ़ें :-

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *